Coronavirus Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Education & Jobs Cricket World Cup 2023 Science & Tech Others
लॉक डाउन पीरियड में दूर कर सकते है कई बीमारियां, जानिये कैसे

लॉक डाउन पीरियड में दूर कर सकते है कई बीमारियां, जानिये कैसे

 

कोरोना वायरस के आने से एक काम जरूर हुआ हैं और वो है हमारी भागती - दौड़ती ज़िंदगी में ठहराव आ गया हैं। भारत देश के साथ-साथ पूरी दुनिया में कोरोना वायरस आग की तरह फैला हुआ है और इसका कहर बढ़ता जा रहा हैं। कोरोना वायरस के आने से पहले जब हमारी ज़िंदगी सुचारु रूप से चल रही थी  तो हमें आराम करने का समय नहीं होता था। अब कोरोना वायरस माहमारी के चलते जब से 21 दिन का लॉक डाउन हुआ है हम सब घर पर रहने को मज़बूर हैं। लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि इस लॉक डाउन पीरियड के चलते आप कई बिमारियों को दूर कर सकते हैं। आइए जानते है कैसे।

जब हम भागदौड़ वाली ज़िंदगी में अपने काम और घर की ज़िम्मेवारियों में फसें हुए होते है तो हम अपने लिए समय नहीं निकाल पाते और अपने स्वास्थ्य की तरफ ध्यान नहीं दे पाते हैं। इसी वजह से हमें चिड़चिड़ापन, तनाव, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो जाती हैं। हमारी रोजमर्रा की भागदौड़ हमारे ऊपर हावी हो जाती है और हमें स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो जाती है जैसे सरदर्द,वजन बढ़ना, कमर दर्द की समस्या आदि। कोरोना वायरस की वजह से लॉक डाउन के समय का उपयोग करते हुए हम स्वास्थ्य संबंधी समस्याओ से दूर रहकर इस समय का सदुपयोग कर सकते हैं।

 लॉक डाउन समय का सदुपयोग - बचें कई बिमारियों से

हाल ही में मेडिकल जर्नल नेचर ह्यूमन बिहेवियर में प्रकाशित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया ने एक शोध की जिसमे यह पता चला की खाली समय में अगर हम भरपूर नींद लें तो हम कई बिमारियों से दूर रह सकते हैं। एक अच्छी और चिंतामुक्त नींद से हमारा शरीर स्वस्थ रहता हैं और हम कई बीमारियों से बचें रह सकते हैं।

  • नींद ना लेने से बढ़ता है तनाव - हाल ही में कम नींद लेने वाले कुछ लोगों के ऊपर एक शोध किया गया और उसमे यह पाया गया कि जो लोग नींद कम लेते है उनमे तनाव का स्तर अधिक होता हैं। एक दिन में कम से कम 7 - 9 घंटे की नींद लेंना आवश्यक होता है और अगर हम इससे कम नींद लेते है तो हमारी कार्यक्षमता पर फर्क पड़ता है। कार्य पूर्ण रूप से ना कर पाने से हमें तनाव होता हैं। अगर हम आवश्यक नींद नहीं लेते है तो हमें चिंता और तनाव का स्तर 30 प्रतिशत अधिक होता हैं। अगर लॉक डाउन के समय का सदुपयोग करते हुए हम 7 -9 घण्टे की नीद लेते है तो हम तनाव और चिंता से दूर रह सकते हैं। चिंता और तनाव के कारण कई बीमारियां होती है जिससे हम बचें रह सकते हैं।
  • वर्क फ्रॉम होम के समय पूरी नींद कैसे लें - अगर कोरोना वायरस के चलते आपका ऑफिस बंद हो गया है और आपको वर्क फ्रॉम होम मिला हुआ है तो आप ऐसे समय में भी अपनी नीदं पूरी कर सकते हैं। घर बैठकर काम करने से आपका आने-जाने का समय बचता है और ट्रैफिक में होने वाली परेशानी से आप बचे रहते हैं। इसकी वजह से आप इस समय को नींद पूरी करने में उपयोग कर सकते हैं। ऐसा करने से आप 8 -9 घण्टे की नीदं ले सकते हैं। 
  • तनाव की बीमारी से राहत - नींद पूरी न होने से तनाव और चिंता होती है जो बदले में कई बिमारियों को जन्म देती हैं। अगर आप एक आरामदयाक नींद लेते है तो आप चिंता और तनाव से मुक्त रहकर बीमारियों से दूर रह सकते है। वही दूसरी तरफ अगर आप मानसिक तनाव, दबी हुई इच्छाएं और मन में कड़वाहट लेकर सोने जाते है तो आप रात भर चिंता का शिकार रहते है जिसके कारण आपको ब्लड प्रेशर, हार्ट फेलियर और डायबिटीज जैसी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए इन बीमरियों से बचने के लिए बिना तनाव और चिंता के सोएं और दिमाग को शांत रखें।

 आइये आपको बताते है नींद के बारे में कुछ जरूरी बाते

  • हर व्यक्ति को अपने सोने के समय निश्चित करना चाहिए। हमारा शरीर उसी समय पर सोना चाहता है जब हम समय का निर्धारण कर देते हैं। अगर हम निर्धारित समय पर नींद लेते है तो हमारा शरीर स्वस्थ रहता हैं। रात में नींद लेने से शरीर स्वस्थ रहता है।
  • अगर हम तनाव, चिंता आदि से दूर रहकर आरामदायक नींद लेते है तो हमारा शरीर स्वस्थ रहता हैं। अगर हम रिलैक्स होकर सोये तो हमें आरामदायक नींद आती हैं। सोने से पहले कमरे में होने वाले शोर और लाइट को बंद कर दे ताकि आरामदायक नींद आ सकें। सोने से पहले दिमाग से दिनभर की कामकाज वाली बातों को दिमाग से निकाल दें।
  • अगर आप रात में आरमदायक नींद लेना चाहते है तो आपको दिनमें सोने से बचना चाहिए। कई लोगों को दिन में सोने का मन करता है जिससे हमें कण्ट्रोल करना होता है जिससे हम रात को भरपूर नींद ले सकें। अगर आपको दिन में सोने का मन करें तो आप पॉवर नैप यानि छोटी सी नींद लें और लम्बी नींद लेने से बचें।
  • अगर हम अपना शरीर सुचारु रूप से चलाना चाहते है तो हमें रोजाना से योग, कसरत और व्यायाम करना चाहिए। ऐसा करने से हमारा शरीर ऊर्जावान रहता है और रात में हमें अच्छी नींद आती हैं।
  • एक आरामदायक नींद के लिए सबसे जरुरी होता है हमारे सोने के कमरे का वातावरण। हमारे कमरे का डिज़ाइन, उसमे लाइट और रौशनी आदि का हिसाब सब देखना होता हैं। एक अच्छी नींद के लिए कमरे का वातावरण बिना शोर वाला और बिना रौशनी वाला होना चाहिए। साथ ही कमरे का तापमान ना ज्यादा गर्म और ना ज्यादा ठण्ड वाला होना चाहिए।

    ALSO READ: कोरोना की वजह से घर में कैद है, ऐसे वयतीत करे अपना दिन

Comments

Trending