Coronavirus Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Education & Jobs Cricket World Cup 2023 Science & Tech Others
गणतंत्र दिवस स्पेशल: 71वीं गणतंत्र दिवस परेड में मोदी बनाएंगे ब्राजील के राष्ट्रपति को चीफ गेस्ट

गणतंत्र दिवस स्पेशल: 71वीं गणतंत्र दिवस परेड में मोदी बनाएंगे ब्राजील के राष्ट्रपति को चीफ गेस्ट

26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस समारोह (Republic Day) मनाया जायेगा। हर साल की तरह इस बार भी चीफ गेस्ट बाहर से आएंगे। साल 2020 में प्रधानमंत्री मोदी जी ने विशेष अतिथि के तौर पर ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को आमंत्रण दिया हैं। ब्राजील के राष्ट्रपति 24 जनवरी को चार दिवसीय दौरे पर भारत आएंगे। ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो ने जब से राष्ट्रपति पद का कार्यभर संभाला है तबके बाद से यह उनकी पहली भारत यात्रा होगी। बोलसोनारो अपने साथ सात मंत्रियों को, कुछ शीर्ष अधिकारियों और एक बड़े व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ यहां पहुंचेंगे।

विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी देते हुए ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निमंत्रण पर ब्राजील के राष्ट्रपति (President) जेयर बोलसोनारो 24 से 27 जनवरी तक भारत दौरे पर रहेंगे। वह 26 जनवरी को भारत की 71वीं गणतंत्र दिवस परेड में विशेष अतिथि होंगे।

ग्यारहवें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान मोदी ने बोलसोनारो को 2020 के गणतंत्र दिवस समारोह में आने के लिए आमंत्रित किया था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया था। पूर्व सेना प्रमुख बोलसोनारो ने अक्टूबर 2018 चुनाव में प्रचंड जीत हासिल कर पिछले साल जनवरी में राष्ट्रपति पद की बागडोर संभाली थी। मंत्रालय ने कहा, ‘‘इस दौरान भारत-ब्राजील के बहुआयामी संबंधों को और बढ़ने तथा मजबूत होने की उम्मीद है।’’ इससे पहले 1996 और 2004 में ब्राजील के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बन चुके हैं। वहीं 2016 में ब्राजील के राष्ट्रपति मिशेल टेमेर गोवा में आयोजित आठवीं ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में शिरकत करने भारत आए थे।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद शनिवार को बोलसोनारो के साथ भेंटवार्ता करेंगे और उनके सम्मान में भोज भी देंगे। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू और विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी बोलसोनारो से मुलाकात करेंगे। विदेश मंत्रालय के अनुसार 21 जनवरी को बोलसोनारो भारत-ब्राजील व्यापार मंच पर भारत और ब्राजील के उद्योगपतियों के समूह को संबोधित करेंगे। भारत और ब्राजील के संबंध पिछले कुछ वर्षों में बेहतर हुए हैं। दोनों देशों के बीच 2018-19 में द्विपक्षीय व्यापार 8.2 अरब अमरीकी डॉलर का रहा। इसमें 3.8 अरब अमरीकी डॉलर का भारतीय निर्यात और 4.4 अरब अमरीकी डॉलर का भारत का आयात शामिल है। दोनों सरकारों का मानना है कि दोनों के बीच द्विपक्षीय व्यापार के और बढ़ने की संभावना अधिक है।

Read More:PM मोदी के "स्वच्छ भारत अभियान" ने दिलाया बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन पुरस्कार

जैसे हर साल कोई ना कोई चीफ गेस्ट गणतंत्र दिवस परेड में आकर शोभा बढ़ाता हैं, उसी प्रकार इस साल मोदी सरकार ने ब्राज़ील के राष्ट्रपति को बुलाया हैं। आज से पहले कई गणतंत्र दिवस परेड  बहुत से विदेशी लोगों ने इस परेड में शिरकत की हैं।

आइये जानते है मोदी सरकार के अच्छे दिनों में गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने अब तक कौन-कौन लोग आये हैं

  • गणतंत्र दिवस समारोह 2015 -मोदी सरकार के सबसे पहले कार्यकाल के दौरान 2015 के गणतंत्र दिवस समारोह में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा शामिल हुए थे।
  •  गणतंत्र दिवस समारोह 2016 - मोदी सरकार के दूसरे साल में 26 जनवरी पर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद भारत आए थे। उन्होंने तब पीएम से मुलाकात के बाद राजपथ पर आयोजित भव्य परेड का लुत्फ लिया था।
  •  गणतंत्र दिवस समारोह 2017 - 68वें गणतंत्र दिवस में अबु धाबी के प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहन भारत आए थे। उन्होंने गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। गौरतलब है कि उस दौरान राजपथ पर निकाली गई परेड में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की सेना का भी एक दल सम्मिलित था। 35 संगीतकारों के दल ने एक साथ मार्च निकाला था।
  •  गणतंत्र दिवस समारोह 2018 - साल 2018 में एसोसिएशन ऑफ साउथ ईस्ट एशियन नेशंस (ASIAN) के 10 राष्ट्राध्यक्ष आए थे। उनमें- ब्रुनेई के सुल्तान हसन बोल्कियाह, कंबोडिया के पीएम हुन सेन, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, लाओस के पीएम थोंगलोउन सिसोलिथ, मलेशिया के तत्कालीन पीएम नजीब रज्जाक, म्यांमार के तब के स्टेट काउंसलर दाव आंग सान सू की, फिलीपींस के तत्कालीन राष्ट्रपति रोड्रिगो रोवा दुतेते, सिंगापुर के तब के पीएम ली हिसयन लूंग, थाईलैंड के पीएम प्रयुथ चानओशा व वियतनाम के पीएम गुयेन जूंग फुक शामिल थे।
 गणतंत्र दिवस समारोह 2019 - 70वें गणतंत्र दिवस समारोह में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा भारत आए। वह द.अफ्रीका के पहले अश्वेत भूतपूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के बाद यहां गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा लेने वाले दूसरे द.अफ्रीकी राष्ट्रपति हैं।

Read More: क्राप्स ऑफ मिलिट्री पुलिस की वो महिलाओ जो है राष्ट्र का गर्व

Comments

Trending