Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

तेजस एक्सप्रेस होगी प्राइवेट ऑपरेटर वाली देश की पहली ट्रेन

दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस (Tejas express) भारत की एक पहली ऐसी ट्रेन होगी जिसका परिचालन (operating) निजी संचालक (private operator) द्वारा किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक़ ट्रेन को दिल्ली-लखनऊ मार्ग पर चलाने का एजेंडा 100 दिनों का है। मतलब सौ दिन के भीतर यह ट्रेन अपने मार्ग पर भागने लगेगी।

You Might Also Like: भारतीय नेताओं के इन बयानों को पढ़ आप भी सोचेंगे - कहां से आते हैं ऐसे लोग!

होगी देश की पहली प्राइवेट ट्रेन

रेलवे विभाग इस ट्रेन के लिए एक अलग रूट के बारे में सोच रहा है जो लगभग 500 किलोमीटर की दूरी का होगा। रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी द्वारा यह कहा गया कि इसे दिल्ली-लखनऊ रेल रूट पर चलाने की बात अभी जारी है। यह ट्रेन इस मार्ग पर कब से चलेगी या नहीं चलेगी इस बात का फैसला एक महीने के भीतर आ जाएगा। इस फैसले के लिए IRCTC अपना काम शुरू किए हुए है। हालांकि, यह चांस बहुत ज्यादा है कि इसे सिर्फ दिल्ली-लखनऊ रेलवे स्टेशन पर ही चलाया जाएगा।

आनंद नगर रेलवे स्टेशन पर लगी हुई है ट्रेन

इस ट्रेन को चलाने की घोषणा सन 2016 में कर दी गई थी। लेकिन, समय-सारणी में जगह न मिल पाने के कारण इस ट्रेन को रोक रखा गया था। अभी 2019 में इस ट्रेन के दौड़ान निश्चित हो गई है क्योंकि, आए हुए नए समय सारणी में इस ट्रेन को जगह मिल गई है।फिलहाल इस ट्रेन को उत्तर प्रदेश के आनंद नगर रेलवे स्टेशन पर खड़ा किया गया है। मंजूरी मिलने पर जल्दी ही यह ट्रेन दिल्ली-लखनऊ रेल रूट पर चलने के लिए तैयार होगी।

दो ट्रेन है तैयार

रेलवे बोर्ड के अनुसार ऐसी ही दो ट्रेन तैयार हैं। लेकिन, फिलहाल अभी एक ट्रेन को ही रेल मार्ग पर चलाया जाएगा। रेलवे विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा यह बयान दिया गया कि वे पूरी कोशिश करेंगे कि वे एक ट्ट्रेन को 100 दिन के भीतर चालू कर सकें। इसके बाद दूसरी ट्रेन को चलाने का समय जल्द ही निश्चित किया जाएगा। दिल्ली-लखनऊ रेल रूट में अभी तक कुल 53 ट्रेन हैं और एक नई ट्रेन भी इस रूट में शामिल होने वाली है। इस रेल रूट में स्वर्ण शताब्दी की बहुत ज्यादा मांग है जो सफ़र तय करने में लगभग 6 घंटे का वक्त लेती है।

खुली बोली के बाद सौंप दी जाएगी

इस ट्रेन की खुली बोली लगाने के बाद इसे प्राइवेट ऑपरेटर को सौंप दिया  जाएगी।हालांकि इस ट्रेन को अभी IRCTC (Indian Railway Catering and Tourism Corporation)  को सौंपा जाएगा फिर IRCTC लीज चार्ज के साथ इस ट्रेन के लिए IRFC (Indian Railway Finance Corporation) को भुगतान करेगी।

सबसे ज्यादा प्रतीक्षित ट्रेन है तेजस एक्सप्रेस

दिल्ली-लखनऊ रेल रूट की सबसे ज्यादा प्रतीक्षित ट्रेन में अब तेजस-एक्सप्रेस शामिल हो गई है। इसे देखने के लिए यात्री बहुत ज्यादा उत्साहित हैं। हालांकि, इससे पहले भी कई ऐसी ट्रेन है जिसका इस मार्ग पर शुरू होने से पहले काफी लम्बा इन्तजार करना पड़ा था। लेकिन, तेजस एक्सप्रेस इस रूट में सबसे ज्यादा प्रतीक्षा कराने वाली ट्रेन है है।

नरेन्द्र मोदी के अंतर्गत आई है यह ट्रेन

भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के कई बजट में इस ट्रेन को भी शामिल किया गया था। 100 दिन के भीतर इस ट्रेन को रिलीज करने का एजेंडा नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू करा गया है।

You Might Also Like: भारतीय नेताओं के इन बयानों को पढ़ आप भी सोचेंगे - कहां से आते हैं ऐसे लोग!

You Might Also Like: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के भाषण की 10 बड़ी बातों पर एक नजर।

Comments

Trending