Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Science & Tech

अलीगढ़ मर्डर केस: 10 हजार रुपेय के लिए हुई ढाई साल की मासूम की हत्या, कूत्ते खींचते मिले शव!

अलीगढ़ के टप्पल इलाके में बच्ची के साथ हुई हत्या का मामला लगातार गरमाता जा रहा है. पुलिस के मुताबिक बच्ची की हत्या उसके पड़ोसियों ने की थी. जानकारी के मुताबिक बच्ची के दादा के साथ उधार के पैसों को लेकर आरोपियों का विवाद चल रहा था. ये मामला पूरे देश की नजर में तब आया जब बच्ची के नाम को लेकर ट्विटर पर एक हैशटेग चलाया गया. 24 घंटों में इस मामले पर 17 हजार से ज्यादा लोगों द्वारा ट्वीट किए गए. ज्यादातर लोगों ने इस मामले में आरोपियों को सख्त सजा देने की मांग की.

You Might Also Like: कठुआ कांड का असली सच आया सामने, आरोपी कि मंगेतर ने लिया यह फैसला

अलीगढ़ पुलिस के मुताबिक, 'पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ है कि बच्ची का रेप नहीं हुआ है. उसके हाथ और पैर टूट गए थे. बच्ची के परिवार ने आरोप लगाया था कि बच्ची की आंख निकाली गई थी पर ऐसा नहीं हुआ था. लेकिन बच्ची के परिवार को ऐसा इसलिए लगा क्योंकि उसका शरीर बुरी तरह से नष्ट किया गया था.' पुलिस का कहना है, 'आरोपियों ने बच्ची की हत्या बदले की भावना से की थी.

आरोपी ने बच्ची के दादा से लिया था उधार

पुलिस के मुताबिक जाहिद ने मृत बच्ची के दादा से 50 हजार रुपए का लोन लिया था, और उस पर 10 हजार रुपए अभी भी बकाया था. इसी मसले पर दोनों के बीच बच्ची की किडनैपिंग से 2 दिन पहले लड़ाई भी हुई थी. बच्ची के घर वालों के मुताबिक जाहिद अपने अपमान का बदला लेना चाहता था.'

पुलिस राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कर रही मामले की जांच

पुलिस ने कहा, 'हम इस मामले की जांच राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत करेंगे और इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजेंगे.' बता दें कि एक ढाई साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी और फिर क्षत-विक्षत शव को कूड़े में फेंक दिया गया था. इतनी घिनौनी और भयावह वारदात के पीछे की वजह महज 10,000 रुपये है. तीन दिन बाद घर के पास के कूड़ाघर में बच्ची का शव मिला था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की हत्या गला घोटकर की गई. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

गांव में बड़े पैमाने पर तैनात है पुलिस बल

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से मौके पर बड़े पैमाने पर पुलिस बल को तैनात किया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने गुरुवार को बताया था कि गत 31 मई को टप्पल से लापता हुई तीन साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शव गत दो जून को उसके घर के पास एक कूड़े के ढेर में दबा पाया गया था. बच्ची के पिता की शिकायत पर जाहिद और एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है.

फास्ट ट्रैक अदालत में की जाएगी मामले की सुनवाई

उनसे पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों का बच्ची के पिता से धन के लेन-देन को लेकर झगड़ा हुआ था. कुलहरि ने बताया था कि बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची से रेप की बात सामने नहीं आई है. उसकी गला दबाकर हत्या की गयी है. उन्होंने कहा कि वारदात की गम्भीरता को देखते हुए दोनों अभियुक्त पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है. मामले की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराये जाने की भी प्रक्रिया शुरू की गयी है. कुलहरि ने बताया कि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से कल पैदा हुए तनाव के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है.

You Might Also Like: कठुआ कांड का असली सच आया सामने, आरोपी कि मंगेतर ने लिया यह फैसला

Comments

Trending