Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

जानिए आत्मारक्षा यानि कि सेल्फ डिफेन्स से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें | Know Some Important Things Related to Self Defense

प्रतिदिन हो रहे अपराधों और यौन शोषण जैसी घटनाओं की वजह से महिलाएं कहीं न कहीं खुद को सुरक्षित महसूस अवश्य करती हैं। हालाँकि ज़िन्दगी में अगर आगे बढ़ने के अपने हौसले को कायम रखना है तो ऐसी परिस्थितियों से अपनी सुरक्षा का दायित्व हमें अपने ही कन्धों पर लेना होगा। इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए बीत कुछ सालों में महिलाओं को सेल्फ डिफेन्स या आत्मरक्षा करने के तरीके सिखाने का प्रचालन बढ़ा है। आज हम आपको बताएँगे कि कानूनन सेल्फ डिफेन्स को कैसे उपाय में ला सकते हैं एवं सेल्फ डिफेन्स करने के तरीके क्या हैं।

You Might Also Like: Why Woman Empowerment should be our priority

“सेल्फ डिफेन्स” को लेकर आखिर क्या कहता है कानून-

इंडियन पेनल कोड के सेक्शन 103 और 104 के तहत हर व्यक्ति को सेल्फ डिफेन्स का अधिकार दिया गया है। इसके अंतर्गत यदि कोई व्यक्ति अपने शरीर या प्रॉपर्टी की रक्षा के लिए यदि किसी का खून भी कर देता है तो उसे गुनहगार नहीं माना जाएगा। यदि किसी व्यक्ति के हाथ में आप कोई हथियार देखते हैं और आपको ऐसा आभास होता है कि वह व्यक्ति आपको चोट पहुँचा सकता है तो आप ऐसी परिस्थिति में खुद का सम्पूर्ण रूप से बचाव करने के लिए स्वतंत्र होते हैं।

खुद को बचाने के लिए यदि आपके हाथों सामने वाले व्यक्ति की मौत भी हो जाती है तो आपको गुनहगार नहीं माना जाएगा। बरहाल आपको कोर्ट में यह साबित करके दिखाना होगा कि यदि आप हमलावर को नहीं मारते तो आपकी जान पर खतरा आ जाता। अगर पुलिस जांच में यह सिद्ध हो जाता है कि आपने जो कुछ भी किया है उसके पीछे आपका इरादा सिर्फ और सिर्फ खुद की सुरक्षा करना था तो आपको बिना किसी कोर्ट केस के निर्दोष मानकर आपके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया जाएगा।

यह हैं सेल्फ डिफेन्स की कुछ जरूरी तकनीक-

महिलाएं कुछ जरुरी सेल्फ डिफेन्स तकनीक सीखकर खुद को आने वाले खतरे से सुरक्षित रख सकती हैं और सामने वाले को देखते ही देखती धूल चटा सकती हैं।

1) पंच करें- यह तकनीक काफी आम है और इसे सीखने के लिए किसी ख़ास ट्रेनिंग की भी जरुरत नहीं है। बस जरुरी है कि आपका पंच सामने वाले को सही तरह से जाकर लगे। इसके लिए आपको अपनी हथेली की सहायता है सीधे दूसरे की नाक पर पंच करना होता है। इसके लिए आप अपनी हथेली के निचले हिस्से का इस्तेमाल कर सकते हैं। तरह-तरह के अभ्यासों से आप अपनी हथेली के निचले हिस्से को मजबूत भी बना सकते हैं। इसका वार इतना जोरदार होता है कि सामने वाली की नाक की हड्डी भी टूट सकती है।  

2) कलाई मरोड़ें- अगर आपने मार्शल आर्ट्स आदि की ट्रेनिंग नहीं भी ली है तो भी आप बड़ी आसानी से इस तकनीक को इस्तेमाल में ला सकते हैं। किसी भी खतरे का अंदेशा होते ही सामने वाले की कलाई को पूरी ताकत से मरोड़ें। ऐसा करते ही अगर कोई आपको महज डराने की कोशिश कर रहा होगा तो आपकी बहादुरी देखकर वह आपसे पल्ला झाड़ने पर मजबूर हो जाएगा।

3) नाख़ूनों का इस्तेमाल करें- आमतौर पर महिलायें अपने नाखूनों को फैशनेबल दिखाने के लिए ही बढ़ाती हैं। लेकिन यही नाख़ून आप पर मुसीबत आने पर आपके हथियार भी बन सकते हैं। अगर कभी ऐसी स्थिति आती है जब कोई आपसे छेड़खानी की कोशिश कर रहा है तो पूरी हिम्मत के साथ अपने नाखूनों से उसपर वार करें।

4) कानों पर वार करें- अपने दोनों हाथों की हथेलियों से सामने वाले के दोनों कानों पर पूरे जोर से वार करें। ऐसा करने से वह बेसुध हो जाएगा और आपको अपनी जान बचाने के लिए पर्याप्त समय मिल जाएगा। ऐसा करते वक़्त इस बात का ध्यान रहे की आपका वार बराबर उसके कानों के पास हो। क्योंकि अगर यह थोड़ा सा भी ऊपर नीचे हुआ तो आप सामने वाले के बजाय खुद को चोटिल कर लेंगे और मुसीबत और भी बढ़ जाएगी।

5) आखों पर वार- इसके लिए आप अपनी उंगलियों से हमलावर की आँखों पर प्रहार करें।  

6) घुटने का इस्तेमाल- इसके लिए थोड़ी मेहनत और स्फूर्ति की जरुरत पड़ेगी। जब भी आपको सामने वाले से असुरक्षित महसूस हो, बिना देर किये दोनों हाथों से उसकी गर्दन पकड़कर उसके पेट के आसपास पैर के घुटने से वार करें। यह वार इतना जोरदार होता है कि सामने वाला पलक झपकते ही धराशायी हो जाएगा। अगर व्यक्ति की लम्बाई आपसे अधिक है तो उसकी गर्दन पर पकड़ बनाने के  बजाय सीधे धुटने से वार किया जा सकता है। इस दौरान एक और महत्वपूर्ण बात का ध्यान रखें। आपने जो वस्त्र पहने हैं यदि उसमें घुटने के मुड़ने के आसार न हों तो इस तकनीक को अपनाकर खुद को मुसीबत में डालने की कोशिश कतई न करें।

इसके अलावा आप आत्मरक्षा के लिए इन चीजों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं-

1) पेपर स्प्रे- ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए अपने पर्स में पेपर स्प्रे अवश्य रखें। जब भी कोई खतरा नज़र आये सावधानी पूर्वक उसे निकालें और हमलावर के बेसुध होने तक उसका छिड़काव करें।

2) सीटी रखें- अगर आप किसी ऐसे इलाके से गुज़र रहीं हैं जिसके आस-पास ज्यादा लोग मौजूद नहीं हैं, तो पहले से ही सीटी निकालकर रखें और कोई ख़तरा महसूस होते ही पूरे जोर से उसे बजायें।

3) हाई हील्स- हाई हील्स का इस्तेमाल महिलाएं स्टाइलिश लगने के लिए करती हैं। लेकिन यही हाई हील्स मुसीबत आने पर एक हथियार के रूप में भी इस्तेमाल की जा सकती हैं। अगर कोई आपको परेशान करने की कोशिश कर रहा है और उसके इरादे आपको ठीक नहीं लग रहे हैं, तो तुरंत अपनी हील्स निकालें और उसके सिर पर दे मारें। यह वार इतना जोरदार हो सकता है जिससे सामने वाले का सिर फूट जाए।

4) हथियार- इसके अलावा आप कोई सीक्रेट हथियार जैसे ही चाकू वगेरह भी साथ रख सकती हैं। ध्यान रखें आप किसी ऐसे हथियार का इस्तेमाल न करें जिससे कानून का उल्लंघन हो।

अगर आप देर रत तक घर से बाहर रहने वाली हैं तो अपने परिजनों के साथ समय-समय पर अपनी लोकेशन साझा करती रहें और कोई भी खतरा महसूस होने पर तुरंत पुलिस को उसकी सूचना दें।

You Might Also Like: Why Woman Empowerment should be our priority

Comments

Trending