Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

माहवारी के समय गलती से भी ना करें यह काम- Avoid These Things During Periods in Hindi

भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में हम अक्सर अपनी सेहत का ध्यान रखना भूल जाते हैं और आने वाली बीमारियों के लक्षणों को अनदेखा कर बैठते हैं। माहवारी या मासिक धर्म एक ऐसा समय होता है जिसमें महिलाओं को तेज दर्द और बेचैनी से गुजरना पड़ता है। ग्रामीण महिलायें माहवारी की गंभीरता से परिचित ना होने के कारण उसे अक्सर अनदेखा कर देती हैं।

माहवारी के समय स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए। लेकिन कुछ महिलाएं सेनिटरी पैड्स की जगह गंदे कपड़े आदि का इस्तेमाल करके अपनी मुश्किलों को और बढ़ा लेती हैं। यह इतनी गंभीर समस्या है जिसमें लापरवाही के चलते आप बांझपन तक का शिकार हो सकती हैं। गौरतलब है कि अभी कुछ महीने पहले ही अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘पैडमैन’ में निर्देशक आर. बाल्की ने मासिक धर्म के दौरान होने वाली समस्याओं और गंदे कपड़े के इस्तेमाल से होने वाली परेशानियों से बचने के लिए सेनिटरी नैपकिन्स का इस्तेमाल करने का सन्देश दिया था। माहवारी के समय औरतों में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। ऐसे में कई चीजों का ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

You Might Also Like: महिलाओं को इन आदतों से होता है नुकसान, कभी न करें ये 5 गलतियां!

आइये जानते हैं ऐसी कौन सी चीजें हैं जिनका माहवारी के समय ध्यान रखना जरुरी है-

1) पैड्स बदलती रहें- यदि आप घरेलू महिला हैं या कहीं काम करती हैं तो दिन भर आपको भागादौड़ी करनी पड़ती है। ऐसे में पैड्स को बदलना ना भूलें। बहुत समय तक एक ही पैड का इस्तेमाल करने से उसमें कीटाणु पनपने लगते हैं जो कि संक्रमण का कारण बन सकते हैं। माहवारी के दौरान हर तीन से चार घंटे में पैड बदलती रहें। गीला हो चुका पैड त्वचा के लिए नुक्सानदायक के साथ-साथ दुर्गन्ध भी फैलाता है। एक बार इस्तेमाल हो चुके पैड को दोबारा इस्तेमाल ना करें। कामकाजी महिलायें मासिक धर्म के दौरान सदैव अपने पर्स में सेनिटरी नैपकिन्स, सैनिटाइजर आदि रखकर चलें।

2) डिप्रेशन से बचें- हार्मोनल बदलावों के चलते अक्सर मूड स्विंग्स होते हैं। इस दौरान आपका व्यवहार चिढ़चिढ़ा हो जाता है। आपको छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आने लगता है। ऐसी स्थिति में जरुरी होता है कि आप किसी भी प्रकार के तनाव से बचें। डिप्रेशिंग फ़िल्में, सीरियल्स आदि ना देखें। किताबें पढ़कर अपना समय व्यतीत करें। जितना हो सके खुद को खुश रखने का प्रयत्न करें।

3) खान-पान का ध्यान रखें- माहवारी के दौरान आपको शारीरिक कमजोरी से बचने के लिए ज्यादा एनर्जी की जरुरत होती है। इसलिए नियमित रूप से पर्याप्त भोजन अवश्य लें। कैल्शियम युक्त चीजें दर्द में राहत देती हैं। दूध से बनी चीजों का सेवन ना करें। इसमें पाया जाने वाला एराकाडोनी एसिड दर्द को और बढ़ा देता है। फल आदि का सेवन करें।

4) सही कपड़ो का चुनाव करें- माहवारी या पीरियड्स के दौरान चुस्त कपड़े ना पहनें। यह आपके चिढ़चिढ़ेपन का कारण बन सकते हैं। सिर्फ उन्हीं कपड़ो को  पहनें जो आरामदायक हों। इसके अलावा कुछ दिन सफ़ेद कपड़ो का इस्तेमाल ना करें। कई बार दाग लगने की वजह से आपको शर्मिंदगी महसूस करनी पड़ती है।  इसलिए इस दौरान रिस्क लेना एक बेहतर उपाय नहीं है।

5) व्यायाम करें- ऐसा मानना एकदम गलत है कि मासिक धर्म के दौरान पूरे समय बेड रेस्ट करना चाहिए। इस दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए थोड़ा व्यायाम करना भी जरुरी होता है। सुबह-शाम समय निकालकर महिलायें घर में ही सही किन्तु हल्की कसरत अवश्य करें। अगर आप तेज दर्द से गुज़र रहीं हैं तो शारीरिक श्रम ना करें। ऐसी स्थिति में घर या ऑफिस के कामकाज से कुछ दिन छुट्टी लेना ही बेहतर विकल्प है।

6) यौन संबध- ऐसा बिल्कुल ना सोचें कि मासिक धर्म के दौरान आप गर्भवती नहीं हो सकतीं। इस दौरान भी गर्भवती होने की संभावना होती है। किसी भी तरह के संक्रमण से बचने के लिए बेहतर है कि कुछ दिन आप यौन संबंधों से दूर रहें।   

7) योनि को स्वच्छ रखें- माहवारी के समय उत्पन्न हुए बैक्टीरियों से बचने के लिए योनि को गुनगुने पानी से साफ करें। याद रहे कि साबुन आदि का इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है, इसलिए सफाई के दौरान सिर्फ साफ़ पानी का ही प्रयोग करें।

8) खाने में ज्यादा नमक ना लें- माहवारी के समय ज्यादा नमक खाने से ऐठन हो सकती है। इसलिए संतुलित और पौष्टिक आहार ही लें।

You Might Also Like:  प्रेग्नेंसी के वक्त रखें सेहत का खास ख्याल, अहार में लें विटामिन और मिनरल्स 

You Might Also Like: इस तरह के भोजन से बढेगी आप की प्रजनन शक्ति

Comments

Trending