Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Science & Tech

165 कॉलेजों के 2,200 छात्रों ने 4 दिन के लिए bamu youth festival में दी भागीदारी, जानें इस बारे में अधिक बातें

बीते वीर-वार को औरंगाबाद में आयोजित हुए बामु यूथ फ़ेस्टिवल में बाबासाहेब अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय (बामु) में कई प्रमुख झलकियों में विभिन्न थीम पर रैलियाँ और जुलूस दिखाए गए।

केंद्रीय युवा महोत्सव में विभिन्न विश्वविद्यालय के अधिकारियों के साथ 25 छात्रों का दल बाबासाहेब अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय के प्रवेश द्वार से निकाली गई उदघाटन रैली का हिस्सा थे। इस फ़ेस्टिवल के लिए तैयार किए गए चरणों में से एक सुरजन में संपन्न हुआ। अपने उद्घाटन भाषण में बाबासाहेब अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय (बामु) के कुल-पति प्रमोद येओले ने कहा कि जीतने वाली प्रतियोगिताओं की तुलना में भागीदारी अधिक महत्वपूर्ण है।

उन्होंने भाषण के दौरान कहा कि केंद्रीय युवा उत्सव यानि बामू यूथ फ़ेस्टिवल जैसे कार्यक्रम युवाओं के बीच अव्यक्त क्षमता का दोहन करने के लिए एक मंच के रूप में कार्य करते हैं। छात्रों को उत्सव के दौरान अपना 100% देना चाहिए, जीतने के बारे में सोचने के बिना इसमें भाग लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि छात्रों में सहभागिता की भावना होनी चाहिए। इस तरह के आयोजनों के दौरान एक छात्र को जो एक्सपोजर मिलता है, वह उसकी मानसिकता को आकार दे सकता है।

येओले ने कहा कि कौशल और इच्छा शक्ति विकसित करने के लिए छात्रों में ग्रहणशील मानसिकता होनी चाहिए।

आपको बता दें, Bamu youth festival में 165 कॉलेजों के लगभग 2,200 छात्र कलाकारों ने भाग लिया। यह आयोजन राज्य स्तरीय युवा उत्सव के लिए विश्वविद्यालय टीम चयन का आधार बनेगा।

Bamu youth festival में भाग लेने वाले एक प्रतिभागी अक्षय चेंगल का इस मौके पर कहना था कि वह चार दिवसीय कार्यक्रम का हिस्सा बनने के लिए उत्साहित था। अक्षय का कहना है कि आत्म-उत्कृष्टता के अलावा, युवा उत्सव जैसे कार्यक्रम छात्रों के बीच टीम निर्माण की भावना को बढ़ाते हैं। शुरुआती सीखने की अवस्था के दौरान ऐसा प्रदर्शन आवश्यक है। 

लोक नृत्य, शास्त्रीय नृत्य, भारतीय और पश्चिमी समूह गायन, लावणी, पोवाड़ा, भारुदेव, वासुदेव, भजन, गोंदल, मिमिक्री, स्किट, माइम, एकांकी नाटक, लोक नाटक, रंगोली बनाना, मूर्तिकला, पोस्टर मेकिंग, कार्टून मेकिंग , कोलाज मेकिंग, एलोक्यूशन, वाद-विवाद प्रतियोगिता, कविता वाचन, क्विज शो और पारंपरिक वाद्य यंत्र बजाना कुछ ऐसे कला रूप हैं जो केंद्रीय युवा महोत्सव में पंक्तिबद्ध हुए।

आपको बता दें, चार दिवसीय Bamu youth festival का समापन 24 नवंबर को उसी तरह जोर-शोर से संपन्न हुआ, जैसे 21 नवंबर को इसकी शुरूआत हुई थी। केंद्रीय युवा उत्सव का उद्धाटन मराठी अभिनेता मकरंद अनासपुरे के हाथों गुरूवार 21 नवंबर को  बाबासाहेब अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय (बामु) में हुआ था। 165 कॉलेजों के जिन 2,200 छात्रों ने केंद्रीय युवा उत्सव में भाग लिया था उनमें से अधिकतर छात्र औरंगाबाद, झलना, बीड जिलों से आए थे। इस कार्यक्रम में युवाओं का उत्साह और प्रतिभा देखते ही बनती थी। युवाओं ने हर कैटेगिरी में भाग लिया। कुछ 6 कैटेगिरी में से 36 छात्रों को अवॉर्ड भी दिया गया।

क्या कहना है विश्वविद्यालय का - 

इस फेस्टिवल के बारे में विश्वविद्यालय का कहना है कि विश्वविद्यालय युवा महोत्सव का उद्देश्य हमारे छात्र युवाओं को भारत की गौरवशाली सांस्कृतिक विरासत से परिचित होने का अवसर प्रदान करना है। इस बैठक का उद्देश्य उन्हें रोमांच, सहकारिता, कला और संस्कृति के क्षेत्र में उत्कृष्टता का सृजन और भाईचारे, देश-भक्ति, एकता और भाईचारे की भावनाएं पैदा करना है।


त्योहारों से कॉलेजों के नवोदित कलाकारों के लिए उन्हें पहचान और प्रोत्साहन प्रदान करने के रास्ते खुलेंगे। हमारी युवा प्रतिभाओं युवा उत्सवों के दौरान प्रकाश में आती हैं। जहां तक संभव हो, छात्र अपनी संगठनात्मक क्षमता और नेतृत्व गुणवत्ता को विकसित करने के लिए उत्सव के संगठन और प्रबंधन में शामिल होंगे।

केंद्रीय युवा महोत्सव - 

Bamu youth festival एक राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता है जो शुरू में क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन करती है। पुणे विश्वविद्यालय को वेस्टजोन समूह में रखा गया है। इस प्रतियोगिता के विजेताओं को अंतिम इंटर जोनल प्रतियोगिता के लिए भेजा जाता है। सभी छात्र जो विजेता / उप-विजेता हैं या विशेष उल्लेख प्राप्त कर चुके हैं, उन्हें विश्वविद्यालय द्वारा वार्षिक पुरस्कार दिवस पर सम्मानित किया जाता है। विश्वविद्यालय उसी के लिए धन प्रदान करता है। 

ये पहली बार नहीं है जब Bamu youth festival का आयोजन किया गया है, इससे पहले भी ये हर साल नवंबर में ही आयोजित होता है। इस चार दिवसीय फ़ेस्टिवल में युवाओं का जोश देखने लायक होता है। बहरहाल, युवाओं की प्रतिभा को मच देने के लिए ये एक बेहतरीन फ़ेस्टिवल है।

Comments

Trending