Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

(ISI) एजेंट के साथ 4 आतंकवादी दाखिल हुए भारत में, देश में हाई अलर्ट जारी

पाकिस्तान एक बार फिर अपने रंग दिखा रहा है। खबर है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) का एक एजेंट 4 आतंकवादियों सहित भारत में घुसपैठ कर चुका है। हालांकि इस खुफिया रिपोर्ट के जारी होने के बाद देशभर में हाई अलर्ट जारी हो गया है। ऐसा माना जा रहा है कि ये सभी आतं‍कवादी एजेंट के साथ मिलकर किसी बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम देने के इरादे से भारत आए हैं। 

खबर के मुताबिक, ये एजेंट और आतं‍कवादी राजस्थान-गुजरात के बॉर्डर पर किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। ऐसे में राजस्थान-गुजरात की सीमा, उदयपुर और सिरोही सहित देश के कोने-कोने में, खासतौर पर भीड़भाड़ वाले इलाकों में अलर्ट जारी हुआ है। बताया जा रहा है कि ये सभी आतंकवादी अफग़ानिस्तान पासपोर्ट का इस्‍तेमाल करके भारत में दाखिल हुए हैं। 

सोमवार को जारी किया गया अलर्ट-

सोमवार को जैसे ही ये खबर बाहर आई देशभर में हलचल मच गई। सोमवार को राजस्थान के सिरोही के पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना ने जिला के सभी पुलिस थानों को अलर्ट कर दिया है और संदेशा भिजवाया है कि ये आतंकवादी किसी भी समय आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं। इन आतंकवादियों के पास भारी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार हो सकते हैं। 

खबरों में ये बात भी सामने आई है कि इंटेलिजेंस ब्यूरो को कुछ इनपुट्स मिले हैं जिसके तहत ये आतंकवादी मध्यप्रदेश में घुसपैठ लगाने की फिराक में हैं। इसीलिए बॉडर्स पर चौकसी बढ़ा दी गई है।  

इन जगहों पर हो रही है चेकिंग-

पुलिस भीड़भाड़ वाले इलाकों पर चौकन्नी हो गई है। साथ ही बस अड्डे, रेलवे स्टेशन, होटल, ढाबों और संदिग्ध गाड़ी‍यों की जांच की जा रही है। पुलिस को पूरी तरह से मुस्तैद कर दिया गया है और उन्हें  संदिग्ध व्यक्तियों को पकड़ने और सवाल-जवाब करने की छूट दी गई है। इतना ही नहीं, पुलिस कर्मियों को खास इलाकों में चेकप्वॉइंट बनाने के भी निर्देश दिए गए हैं। 

अनुच्छेद 370 हटाने के कारण हो रहे हैं हमले-

ऐसा माना जा रहा है कि जब से जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाई गई है तभी से पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियाँ तेज हो गई थीं और पाकिस्ता‍न भारत पर हमले की फिराक में था। दरअसल, जम्मूकश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद पाकिस्तान बुरी तरह बौखला गया है। इसी का नतीजा है कि पाकिस्तान बॉर्डर पर लगातार गोलाबारी कर रहा है। खुफिया रिपोर्ट में ये भी सामने आया है कि घाटी पर ना सिर्फ फियादीन हमले हो रहे हैं बल्कि पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम जिसे बैट के नाम से जाना जाता है, वो भी सक्रिय हो गई है। 

सांबा सेक्टर में भी हो सकता है आतंकवादी हमला-
खबर ये भी है कि पाकिस्तानी जफरवाल क्षेत्र में कई आतंकियों को सक्रिय किया गया है, ये जगह अंतरराष्ट्रीय सीमा के सामने सांबा सेक्टर में मौजूद है। रिपोर्ट के मुताबिक, इन आतंकवादियों को पाकिस्तानी बॉर्डर एक्टन टीम (बैट) के साथ हमले करने के निर्देश दिए गए हैं। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, इस सांबा क्षेत्र में भी बैट टीम द्वारा हमले की योजना बनाई गई है। 

बसंतर में दिखी आतंकवादियों की हलचल- 

पाकिस्तानी जफरवाल क्षेत्र में लैहरी कलाँ लॉचिंग पैड है, ये जगह बसंतर के सामने है। यहां भी आतंकियों की हलचल देखी गई है। ऐसा माना जा रहा है कि इन आतंकवादियों को सीमा पार घुसपैठ करने के साथ ही हमले करने के निर्देश मिले हैं। हालांकि, रक्षा अधिकारियों के मुताबिक, देश की सीमा पर कड़ी सुरक्षा है। साथ ही जवान सतर्क हैं। ऐसे में आतंकवादियों का घुसपैठ करना आसान नहीं है। 

 9 अगस्त को भी जारी हुआ था अलर्ट- 

आपको बता दें, 9 अगस्त को भी इंटेलिजेंस ब्यूरों की तरफ से खुफिया रिपोर्ट में देश में आतंकी हमलों को लेकर अलर्ट जारी किया गया था। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) की तरफ से तैयार किए गए जेहादी आतंकवादी जम्मू और उसके बाहर आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की तैयारी में जुटे हैं। इस रिपोर्ट के बाद भी देश की सीमाओं, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान में अलर्ट जारी करवाया था। साथ ही सिपाहियों को पूरी तरह तैयार रहने के निर्देश दिए थे। 

24 अगस्त जन्माष्टमी के दिन रहें अलर्ट -
24 अगस्त को जन्माष्टमी है। ऐसा माना जा रहा है कि इस दिन आतंकवादी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं। ऐसा इसीलिए क्योंकि गुजरात में हर साल जन्माष्टमी के मौके पर बॉर्डर के पास मेले लगते हैं। ये मेले आमतौर पर श्यामलाजी, द्वारिका और सौ-राष्ट्र में लगाए जाते हैं। इन मेलों में दुनियाभर से लोग दूर-दूर से आते हैं। इतना ही नहीं, कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर लोग एक साथ इकट्ठा होकर इसे सेलिब्रेट करते हैं। ऐसे में आतंकवादी उन जगहों का चुनाव अधिक करते हैं जहां बहुत भीड़ इकट्ठी होने की संभावना होती है। आप भी यदि जन्माष्टमी के मौके पर इन मेलों में जाने की योजना बना रहे हैं तो सावधान रहें। आपकी थोड़ी सी सतर्कता बड़ी घटना को अंजाम देने से रोक सकती है।

Comments

Trending