Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education & Jobs

सेहत के लिए उपवास हैं रोग निवारक !

सेहत के लिए उपवास हैं रोग निवारक !

स्वास्थ का हमारे जीवन में बहुत महत्व है, स्वस्थ रहने के लिए शरीर व मन दोनों ही स्वस्थ होने चाहिए । उपवास हमारे मन व शरीर दोनों को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, उपवास का धार्मिक महत्व होने के साथ - साथ व्यक्ति को निरोग रखने में बहुत बड़ा योगदान है ।

उपवास कई प्रकार से किया जा सकता है जैसे पूरे दिन कुछ न खाकर, फल या जूस का सेवन करके, दिन में एक बार भोजन करके या सिर्फ पानी पीकर । आयुर्वेद के अनुसार उपवास करने से हमारे शरीर से विषैले तत्व बाहर निकल जाते है तथा शरीर हल्का महसूस होता है, मन शांत हो जाता है, शरीर की रोग प्रतिरोध क्षमता में वृद्धि होती है तथा हमारे शरीर में फ्री रैडिकल्स का निर्माण रुकने से कैंसर से बचाव होता है । बहुत से पोषक तत्व जैसे जिंक, आयरन तथा कैल्शियम इत्यादि शरीर में एब्सॉर्ब हो जाते है ।

उपवास करने से पाचन क्रिया ठीक रहती है, भूख नियमित हो जाती है तथा पेट में कब्ज व एसिडिटी की समस्या नहीं होती ।उपवास से हानिकारक बैक्टीरिया समाप्त हो जाते है तथा अच्छे बैक्टीरिया पनपने लगते है जो हमारे शरीर के लिए अच्छे होते है ।

उपवास वजन काम करने में सहायक है क्योकि यह शरीर में से अतिरिक्त चर्बी कम करता है, इससे व्यक्ति का दिमाग तेज होता है, व्यक्ति सुस्त नहीं रहता, हमेशा एक्टिव रहता है। जिन लोगों को कफ़ या जठराग्नि मंद रहने की समस्या है उन्हें उपवास अवशय करना चाहिए, उपवास कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है जिससे हृदय रोग से बचा जा सकता है ।

उपवास करते समय व उपवास खोलते समय कुछ सावधानियाँ बरतनी चाहिए, जो लोग बीमार हो, पड़ने वाले बच्चे, गर्भवती महिलाएँ तथा किसी लम्बी बीमारी के बाद उपवास नहीं करना चाहिए वरना हानि उठानी पड़ सकती है, उपवास खोलने के बाद ज़्यादा गरिष्ठ भोजन नहीं लेना चाहिए तथा एक साथ ज़्यादा भोजन नहीं करना चाहिए ।

Comments

Trending