Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Science & Tech

(Howdy Modi) - 'शेयर्ड ड्रीम्स एंड ब्राइट फ्यूचर -  इंडिया अमेरिका स्टोरी

22 सितम्बर को इतिहास रचने जा रहा है और ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब दो ताक़तवर देश - अमेरिका और भारत के प्रमुख - नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप एक साथ मंच पर साथ आएंगे। अमेरिका के टेक्सास में 22 सितंबर को एक विशेष कार्यक्रम 'Howdy Modi' आयोजित होने वाला है जिसमे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 50 हजार से ज्यादा लोगों के सामने मंच पर अपने विचार व्यक्त करेंगे। सूत्रों से पता चला है कि अमेरिका में होने वाले पोप के बाद यह इवेंट 'Howdy Modi' अमेरिका में किसी अन्य लीडर के लिए आयोजित होने वाला सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा। यह कार्यकर्म 22 सितंबर को अमेरिका के टेक्सास के ह्यूस्टन में आयोजित किया जाएगा और इसमें 50 से ज्यादा अमेरिकी सांसद भी शामिल हो सकते हैं। 


क्या है "Howdy Modi" इवेंट 

"Howdy Modi" इवेंट अमेरिका के टेक्सास में ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में कार्यक्रम होने वाला पहला ऐसा कार्यकर्म देशों के प्रमुख एक साथ एक मंच पर आएंगे। सूत्रों के अनुसार, इस कार्यकर्म में 50 हजार से ज्यादा लोग आएंगे और यह पहली बार है कि किसी विदेशी नेता के कार्यक्रम में इतनी बड़ी संख्या में लोग शामिल हो रहे हैं।

हाइलाइट्स ऑफ़ "Howdy Modi"  इवेंट

  • इतिहास में यह पहली बार है जब भारतीय समुदाय के 50 हजार से ज्यादा लोगों को दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के नेता एक साथ संबोधित करेंगे।
  • यह तीसरा मौका है जब मोदी अमेरिका में इतनी बड़ी संख्या में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। मई में दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी का यह पहला अमेरिका दौरा होगा।
  • इस कार्यक्रम के लिए 50 हजार लोग रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं, जबकि 8 हजार लोग वेटिंग लिस्ट में हैं 
  • 'Howdy Modi' पोप के बाद अमेरिका में किसी विदेशी लीडर के लिए आयोजित होने वाला सबसे बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है। 
  • इसमें 50 से ज्यादा अमेरिकी सांसद भी शामिल हो सकते हैं। 
  • मोदी 21 सितंबर को अमेरिका दौरे पर रवाना होंगे और ह्यूस्टन पहुंचेंगे। 23 से 27 सितंबर तक प्रधानमंत्री यूएन महासभा में हिस्सा लेंगे। 
  • सूत्रों के मुताबिक, 25 और 26 सितंबर को मोदी और ट्रम्प के बीच वॉशिंगटन में एक द्विपक्षीय वार्ता बैठक आयोजित करने पर विचार किया जा रहा है।
  • ऐसा पहली बार है कि किसी भारतीय प्रधानमंत्री के अनौपचारिक कार्यक्रम में कोई अमेरिकी राष्ट्रपति हिस्सा ले रहा हो।
  • 'Howdy Modi' कार्यक्रम की थीम 'शेयर्ड ड्रीम्स एंड ब्राइट फ्यूचर: इंडिया अमेरिका स्टोरी' है।
  • व्यापारिक रिश्तों की मजबूती को बढ़ावा  - मोदी जी और ट्रंप की मुलाकात से भारत- अमेरिका के बीच व्यापारिक रिश्तों को मजबबूती मिलेगी। साथ ही मोदीजी और ट्रंप मिलकर कश्मीर मुद्दे को सुलझाने की कोशिश करेंगे।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया 

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ह्यूस्टन में आयोजित होने वाले इवेंट ‘Howdy Modi’  में शामिल होने पर मोदीजी ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रपति ट्रम्प ह्यूस्टन में हमारे साथ रहेंगे। यह फैसला भारत-अमेरिका के रिश्ते की मजबूती दिखाता है। इससे यह भी पता चलता है कि भारतीय समुदाय का अमेरिकी समाज और वहां की अर्थव्यवस्था में खासा योगदान है। कार्यक्रम में भारतीय समुदाय ट्रम्प का शानदार स्वागत करेगा।’’

इसी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस इवेंट के लिए ट्वीटकर के जरिये लोगों से अपने विराच साझा करने को कहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, "मेरे भाषण के लिए अपने विचार साझा करें। मैं उनमें से कुछ का अपने भाषण में जिक्र करूंगा।" पीएम नरेंद्र मोदी ने लोगों से नमो ऐप पर एक स्पेशल फॉरम के जरिए अपने विचार साझा करने की अपील की। बता दें इससे पहले भी पीएम नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण और रेडियो प्रोग्राम 'मन की बात' के लिए लोगों से सुझाव मांगे थे।

मोदी जी के अमेरिका का पिछले इवेंट्स की जानकारी 

उनके पहले दो इवेंट 2014 में न्यूयॉर्क के मेडिसन स्क्वेयर गार्डन और 2016 में सिलिकॉन वेली में हो चुके हैं। सबसे पहला इवेंट मोदी जी ने मैडिसन स्क्वायर गार्डन और कैलिफोर्निया में सिलिकॉन वैली कार्यक्रम के द्वारा किया था। सूत्रों के अनुसार,मैडिसन स्क्वायर गार्डन और सिलिकॉन वैली में आने वाली लोगों की जनसँख्या से भी ज्यादा लोग  'Howdy Modi' कार्यक्रम में  शामिल हो सकते हैं। सिलिकॉन वैली में 20 हजार लोग शामिल हुए थे।

व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी स्टेफिनी ग्रिशेम का बयान

व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी स्टेफिनी ग्रिशेम ने बयान जारी कर कहा कि,"मोदी-ट्रंप की साझा रैली से भारत और अमेरिका के रिश्ते और मजबूत होंगे। पहली बार होगा जब हजारों अमेरिकी और भारतीय एक ही जगह पर एक साथ होंगे। वहीं अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप का इस इवेंट में शामिल होना ऐतिहासिक है। यह भारत और अमेरिका की मजबूत दोस्ती के रिश्ते को बयां करता है।"

Comments

Trending