Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019

दिल्ली विश्वविद्यालय के चुनावों की अहमियत बहुत अधिक है क्योंकि दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संघ के चुनावों में राष्ट्रीय राजनीति की एक झलक दिखती हैं। देश के सबसे प्रतिष्ठित विश्विद्यालयों में दिल्ली विश्वविद्यालय का नाम आता हैं और यहां दाखिला पाने का सपना देश भर के हर एक विद्यार्थी का होता हैं। हर साल देश के कोने कोने से छात्र यहां अपने सपनों को पूरा करने के लिए एडमिशन लेते हैं और यहा पर उनके सपनो को उड़ान मिलती हैं।दिल्ली विश्वविद्यालय के चुनावों की अहमियत इतनी ज्यादा है कि कुछ लोग तो दिल्ली विश्विद्यालय के छात्रों के समूह को मिनी इंडिया भी कहते है क्योंकि इस विश्वविद्यालय में देश के हर भाग से छात्र होते हैं। जब दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संघ के चुनाव होते है तो उसी के  द्वारा वर्तमान सरकार के कामकाज के प्रति युवाओं की राय भी झलकी जाती है। 

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान हो चुका हैं। हालांकि साल 2018 में डीयू में एबीवीपी का पैनल है। साल 2018 में दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनावों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्तसचिव के पद पर जीत हासिल की थी और सचिव पद पर नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ़ इंडिया (NSUI) ने जीत दर्ज की थी।  ABVP के अंकिव बैसोया अध्यक्ष, शक्ति सिंह उपाध्यक्ष, ज्योति चौधरी संयुक्त सचिव और NSUI के आकाश चौधरी सचिव का चुनाव जीतने में सफल रहे थे। बता दें कि 2018 चुनाव में अंकित बैसोया अध्यक्ष का चुनाव जीते थे, लेकिन उनके कागजातों में गड़बड़ी पाई गई थी, इसलिए उन्हें पद से हटाकर उपाध्यक्ष शक्ति सिंह को अध्यक्ष बनाया गया था।


दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019 के लिए 12 सितंबर 2019 को वोट डालने की तारीख निश्चित की गई हैं। दिल्ली यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका हैं। हालांकि वोटों की गिनती के लिए अभी तारीख निश्चित नहीं हुई हैं। दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन (डूसू) चुनाव का आगाज होते ही कैंपस में वीर सावरकर और भगत सिंह की मूर्ति की घटना हुई और कुछ लोगों ने अपना विरोध जताया। एबीवीपी ने दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में प्री-इलेक्शन कैंपेन के लिए 10 छात्र नेताओं के नाम घोषित कर दिए हैं और अनुमान लगाया जा रहा है कि इन्हीं छात्र नेताओं में से किन्ही चार छात्र नेताओं को डूसू चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद फाइनल प्रत्याशी घोषित करेगी। 


दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019  का नोटिफिकेशन - दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019  के लिए नोटिफिकेशन जारी हो चुका हैं। आइये जानते है इस नोटिफिकेशन के बारे में -


  • इस नोटिफिकेशन के मुताबिक, छात्र 4 सितंबर तक नॉमिनेशन कर सकते हैं। 
  • इसके साथ एफिडेविट और 500 रुपये भी जमा कराने होंगे। 
  • नॉमिनेशन वापस लेने की अंतिम तारीख 5 सितंबर है। 
  • उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट 5 सितंबर को 5 बजे तक आउट हो जाएगी। 
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव की वोटिंग का दिन 12 सितंबर निश्चित हुआ हैं। 
  • वोटिंग का समय मॉर्निंग कॉलेज वाले छात्रों के लिए 8.30 से 1 बजे तक का वोट डालने का समय होगा। 
  • शाम की शिफ्ट वाले छात्रों के लिए दोपहर 3 से 7.30 बजे तक वोट डालने का समय होगा।


डूसू की प्री-इलेक्शन कैंपेन में भाग लेंने वाले दस संभावित नाम -  तुषार डेढ़ा, योगित राठी, साहिल मलिक, अक्षित दहिया, सचिन बंसल, वरूण रेक्सवाल, प्रदीप तंवर, शिवांगी खरवाल, जयदीप मान और मानसी चौहान का नाम शामिल है।

छात्रों तक अपना पक्ष लेकर जाएंगे एबीवीपी (ABVP) - एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में हम पूरी मजबूती के साथ अपना पक्ष छात्रों के बीच लेकर जाएंगे और प्रत्याशी कॉलेज कैंपस में जाकर छात्रों को पिछले डूसू की उपलब्धियाँ बताएँगे। ये स्टूडेंट इस साल के मुद्दे स्टूडेंट्स के सामने रखेंगे और हमारे कार्यकर्ता घोषणा पत्र को भी जारी करेंगे। इस घोषणा पत्र पर छात्रों की राय भी ली जाएगी। 


इलेक्टोरल भाषण को अपलोड करने का अवसर

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2019 में विभिन्न पदों के लिए चुनाव लड़ने वाले छात्रों को एक अवसर प्रदान करने के लिए और उन्हें व्यापक दर्शकों तक पहुंचाने के लिए समिति ने एक वीडियो क्लिपिंग में इलेक्टोरल भाषण को अपलोड करने का निर्णय लिया है। इसमें संबंधित उम्मीदवारों को वेबसाइट पर जाकर इलेक्टोरल भाषण को अपलोड करने का अवसर दिया जायेगा और यदि आवश्यक हुई तो इसको संपादित भी किया जा सकता है। 

इसके लिए एक समिति का गठन हुआ है जिसमे शामिल हैं - मुख्य चुनाव अधिकारी, मुख्य रिटर्निंग अधिकारी और रिटर्निंग अधिकारी। समिति का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होगा। प्रत्येक पद के लिए भाषण वेबसाइट के अनुसार लोड किया जाएगा। 

`

Comments

Trending