Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Science & Tech

बारिश और बाल झड़ने की समस्या - जानिये कुछ घरेलू नुस्खे | Rain and Hair Fall Problem

बढ़ती उम्र के कारण बालों का झड़ना सामान्य होता हैं लेकिन कुछ कारणों जैसे  आनुवंशिक, अत्यधिक तनाव, थायराइड की समस्या,एंड्रोजेनेटिक अलोपेसा,मानसिक बीमारी, डैंड्रफ, स्कैल्प बैक्टीरिया, मॉनुट्रिशन (malnutrition), पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस),हार्मोनल असंतुलन, दवाओं का साइड इफ़ेक्ट आदि से जब बाल झड़ते है तो ये किसी बीमारी का संकेत हो सकते हैं।कभी-कभी कास्मेटिक प्रोडक्ट और ओवर दी काउंटर दवाओ के साइड इफेक्ट्स के कारण भी बाल झड़ते हैं। एक दिन में 50 -100 बालों का झड़ना सामान्य माना जाता हैं जिसके पीछे मुख्य कारण  आनुवंशिक एंड्रोजेनेटिक अलोपेसा (androgenetic alopecia) होता है। लेकिन सामान्य से ज्यादा बालों के झड़ने के कारण समाया पैदा हो जाती हैं। 

बालों का झड़ना बारिश के दिनों में और भी अधिक हो जाता हैं। मानसून के मौसम में बारिश के पानी से जब भीग जाते है तो कई तरह के इंफेक्शन (Infection) हो जाते हैं।  ये इन्फेक्शन बालों के झड़ने की समय को बढ़ा देता हैं। इसी के साथ स्कीन एलर्जी (Skin Allergy) और बालो से संबंधित (Hair Problems) कई समस्याएं होने का खतरा भी बना रहता हैं। 

आइये  आज हम आपको बारिश के मौसम में घरेलू नुस्खो को अपनाकर बालों के झड़ने को कैसे रोक सकते हैं, ये बताते हैं। 

भृंगराज (Bhrigraj)

कई आयुर्वेदिक दवाओं में उपयोग किया जाने वाला भृंगराज बालों  के लिए एक सर्वश्रेष्ठ जड़ी-बूटी हैं और ये बारिश के दिनों में बाल झड़ने से रोकता हैं। इससे बालो का विकास होने के साथ-साथ बालों में इन्फेक्शन की समय भी दूर होती हैं। बाल चमकदार और मज़बूत होकर झड़ना बंद हो जाते हैं। इसको इस्तेमाल करने के लिए 2 चम्मच भृंगराज जड़ी बूटी पाउडर ले लें। अब इसको पानी में मिलाकर एक गाढ़ा मिश्रण बना लें। अब इसको बालों में लगाएं।   20 - 30 मिनट के बाद बालों को किसी माइल्ड शैम्पू से धो लें। 

नारियल का तेल (coconut oil)

नारियल का तेल अद्भुत चिकित्सकीय गुणों के साथ-साथ एंटी बैक्टिरियल (anti-bacterial) और एंटीफंगल (anti-fungal) होता है।  नारियल का तेल आयुर्वेद में प्राकृतिक जड़ीबूटी माना जाता हैं। इसमें खनिज, पोटैशियम, आयरन और प्रोटीन होते है जो किसी समस्या के कारण बालों को टूटने से बचाता हैं। 

बारिश के दिनों में नारियल के तेल को हल्का गर्म करके और इसमें एक टिकिया कपूर मिलकर हलके हाथ से अपने बालों पर मसाज करें। आप चाहे टी तेल को रातभर बालों में लगाकर रख सकते है और सुबह किसी माइल्ड शैम्पू से बाल धोकर अच्छे से सूखा लें। कोशिश कारण गीले बालों पर कंघी ना करें। 

प्याज का रस (onion juice) 

प्याज के रस बालों के लिए रामबाण इलाज़ हैं। सल्फर इसमें बहरपुर मात्रा में पाया जाता है और सल्फर इन्फेक्शन को ख़त्म करता हैं। प्याज़ का रास जब खोपड़ी पर लगाया जाता है तो कोलेजन स्तर बढने से जड़ें मज़बूत होती हैं। प्याज़ में और भी कई गुण जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-सेप्टिकक, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी होते हैं जो मानसून के मौसम में बालों का झड़ने से रोकते हैं। 

बारिश के दिनों में  प्याज़ को इस्तेमाल करने के लिए प्याज को बारीक पीसकर इसका रस एक कटोरे में निकाल लें। अब हलके साथ से इससे बालों की जड़ों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को माइल्ड शैम्पू से धो लें। ध्यान रहें आपको प्याज़ की गंध बालों से निकलने के लिए अच्छे से शैम्पू करना होता हैं।  

लहसुन (garlic)

आयुर्वेद में औषधी के नाम से जाना जाने वाला लहसुन बालों के लिए बारिश के मौसम में कुदरती तरीके से काम करता हैं। लहसुन से जड़े मजबूत होने के साथ-साथ बालों का विकास भी होता हैं। बाल झड़ना बंद होने के साथ-साथ बाल लम्बे और खूबसूरत भी बनते हैं।  लहसुन इस्तेमाल करने के लिए लहसुन को पीसकर इसे अलग रख लें। अब इसमें थोड़ा सा नारियल का तेल मिलाए और एक मिश्रण बना लें। अब इस मिश्रण को थोड़ा सा पकाएं और हल्का गर्म रह जाने पर हलके हाथ से बालों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को माइल्ड शैम्पू से धो लें। 

रीठा (soap nuts)

रीठा एक आयुर्वेदिक प्रोड्कट है जो एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से भरपूर होता हैं। ये बालों का झड़ना रोकने के साथ-साथ बालपन को चमकदार बनाता हैं। इसको इस्तेमाल करने के लिए एक कटोरे में आधा लीटर पानी में एक मुठ्ठी रीठा भीगा दें। सुबह उस पानी को उबाकर पानी को आधा कर दें। अब इस पानी और रीठा को पीसकर  मिश्रण बना लें और अपने बालों में लगाएं। लगभग 40 -50 मिनट बाद सर को किसी माइल्ड शैम्पू से धो ले।

बालों को झड़ने से रोकने के अन्य उपाय 

बालों के स्वस्थ रहने में मालिश करने से ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) बढ़ जाता है जो बालों की ग्रोथ के लिए जरुरी होता है। नियमित रुप से किसी अच्छे तेल से बालों की मालिश करने से बालों का झड़ना कम होता हैं। शरीर में पोषण का अभाव कम करने के लिए अपनी डाइट में जिंक, बायोटिन (biotin), आयरन, सेलेनियम, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई आदि को शामिल करें। कोशिश करने कि आप अपने खाने में चिकन, अंडे, मछली, सी फूड्स, फलों में सेब, टमाटर, आलू और मटर, केला, पपीता, सब्जियों में पालक, गाजर, काजू, किशमिश, अखरोट, पिस्ता, खजूर और चावल आदि को शामिल करें। बाल के नेचुरल आयल और शाइन को को बनाये रखने के लिए माइल्ड शैम्पू का उपयोग करें। कभी गीले बालों पर कंघीं ना करें। बालों को मज़बूत बनाने के लिए अर्टिफिकल हेयर प्रोडक्ट्स और हेयर स्टाइल्स का कम प्रयोग करें।

Comments

Trending