Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

पति-पत्नी के बीच असामंजस्य, सेक्स समस्या समेत ये होते हैं तलाक के मुख्य कारण

आज के वक्त में पति-पत्नी के बीच तलाक होने की समस्या काफी बढ़ती जा रही है और कप्लस के बीच में कंपेटेबिलिटी न होने के कारण भी यह समस्या बढ़ती जा रही है. प्रमुख रूप से पति पत्नी के बीच में मनमुटाव होना, संबंधों में कड़वाहट आना या सेक्स संबंधित समस्या, एक दूसरे की सोच न मिलना आदि तलाक के मुख्य कारण हैं.

मुख्य रूप से ऐसा उन पति पत्नीयों के बीच होता है अपनी वैवाहिक जिम्मेदारियों को सही प्रकार से नहीं निभा पाते. हालांकि, यह कोई नई समस्या नहीं है लेकिन इसमें प्रमुख अंतर समाज में आया बदलाव है. जिस कारण वैवाहिक जीवन में पारस्परिक मतभेद, समस्या के रूप में उजागर होते हैं और समय रहते इन समस्याओं का हल न निकाले जाने पर इसका नतीजा तलाक में बदल जाता है.

बीते वक्त में तलाक के अधिक मामले इसलिए सामने नहीं आते थे क्योंकि पहले धार्मिक, सामाजिक और नैतिक मान्यताओं का बोल-
बाला काफी अधिक था लेकिन आज के वक्त में लोगों की सोच में काफी परिवर्तन आया है. कानून द्वारा भी इसको छूट दी गई है, इस कारण पति पत्नी तलाक का सहारा लेकर अफने वैवाहिक जीवन के बंधन को खत्म कर देते हैं. पहले के मुकाबले आज के वक्त में लोगों की अपेक्षाएं भी बढ़ गई हैं, जिस कारण बहुत से लोग सामाजिक और सांस्कृतिक परिवर्तनों को गलत ढंग से अपनाते जा रहे हैं.

आपको बता दें कि हिंदू संस्कृति में कहा जाता है कि दाम्पत्य जीवन के मतभेदों का उत्तरदायित्व या तो पुरुष के व्यक्तित्व पर निर्भर होता है या फिर विवाह संबंध और आंतरिक संबंधों पर निर्भर होता है. वैसे तो हम सब ही जानते हैं कि वैवाहिक जीवन को सफल बनाने के लिए पति-पत्नी को अपना स्वभाव अपने साथी के अनुकूल बदलना चाहिए. वहीं कई बार ऐसा भी देखा जाता रहा है कि यदि व्यक्ति भावनात्मक रूप से अपरिपक्व, मानसिक रूप से अव्यवस्थित होता है तो वह किसी भी तरह के मानवीय संबंधों में सामांजस्य नहीं बैठा पाता और जिसमें आत्मविश्वास की कमी हो वह अपने पति से मामूली विवाद होने पर भी सीधे मायके का रुख करेंगी.

कई अनुभवी व्यक्तियों का कहना है कि जिन स्त्री-पुरुषों में सहयोग, सहानुभूति और सहनशक्ति आदि गुण होते हैं वो ही अच्छे पति और पत्नी बन पाते हैं. जो पुरुष गैर जिम्मेदार और दूसरों पर हावी रहने वाले होते हैं वो शादी के बाद भी वैसे ही रहते हैं. जिस कारण तलाक की संभावना अधिक बढ़ जाती है.

वैसे तो पति-पत्नी के बीज मतभेद के कई कारण हो सकते हैं लेकिन उन सभी कारणों को तीन प्रमुख श्रेणी में बांटा जा सकता है जो इस प्रकार है-

  • पति-पत्नी की सोच और कार्य एक दूसरे के विपरीत होना- बहुत से दम्पत्तियों के जीवन में साथियों की सोच और कार्य में सामान्जस्य न होने के कारण और उनकी मान्यताओं, स्वभावों और रुचियों में अंतर देखने को मिलता है. जिस कारण उनमें प्रेम नहीं होता और एक दूसरे को लेकर असंतोष की भावना होने लगती है और अंत में अपनी इस समस्या को दूर करने के लिए वो तलाक का सहारा लेते हैं. 
  • मतभेद होने पर बाहरी प्रभाव होना- आर्थिक, सामाजिक या माता-पिता का पति-पत्नी के सामान्य संबंधों में हस्तक्षेप करना आदि. या फिर पति-पत्नी के संबंधों में किसी दूसरे का दखल या सेक्स से असंतुष्ट होने के कारण दूसरे को चाहना आदि भी तलाक के कारण बन सकते हैं.
  • एक दूसरे के काम में अवरोध उत्पन्न करना- यह भी तलाक का प्रमुख कारण बन सकता है क्योंकि अगर पति-पत्नी में से किसी में भी यह भावना आ जाए तो वक अपने साथी के काम से खुश नहीं होगा और उसे हमेशा नीचा दिखाने की कोशिश करेगा और इस कारण परिवार में लड़ाई, झगड़े होने की भी नौबत आ जाती है. इसलिए इसका अंतिम परिणाम तलाक होता है. 

सेक्स कमजोरी भी बन सकता है तलाक का कारण-

  • यदि कोई पुरुष अपनी पत्नी को ठीक प्रकार से संतुष्ट नहीं कर पाता है तो उसकी पत्नी का ध्यान अन्य मर्दों की ओर खिंचने लगता है और अतृप्ति की स्थिति में किसी भी महिला के कदम बहकने लगते हैं. यदि महिला असंतुष्ट है तो वह किसी दूसरे मर्द के साथ संबंध बना सकती है. इस स्थिति में यदि पति को पता चलेगा तो दोनों के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो जाएगी और आखिर में दोनों तलाक लेने के लिए मजबूर हो जाएंगे.
  • कई पुरुष ऐसे होते हैं जो शादी के बाद कुछ सालों तक सेक्स का आनंद लेते हैं लेकिन जैसे जैसे वक्त गुजरता है वैसे वैसे उनकी सेक्स की इच्छा कम होने लगती है, जिस कारण उनकी अपनी पत्नी के साथ तकरार होने लगती है. इस स्थिति में भी पत्नी अपने पति से संतुष्ट नहीं हो पाति और अपने पति से तलाक लेने के लिए कोर्ट का सहारा लेती हैं.
  • कई पुरुष ऐसे होते हैं जो रात में अपनी पत्नी से बेहत प्यार करते हैं और अच्छा व्यवहार करते हैं लेकिन दिन के वक्त उनसे उतना ही गंदा व्यवहार करते हैं और हर बात पर डांटते रहते हैं. ऐसा व्यवहार अपनी पत्नी के साथ न करें क्योंकि इससे भी आपका व्यवहाकि जीवन खराब हो सकता है और आपका तलाक हो सकता है. 

मारपीट या दहेज के कारण प्रताड़णा-

  •  यदि पुरुष अपनी पत्नी के किसी न किसी कारण अक्सर मारपीट करता है या उसे दहेज को लेकर बार बार प्रताड़ित करता है तो भी दोनों का रिश्ता लंबे वक्त तक नहीं चल सकता और अंत में महिलाएं अपने जीवन को दोबारा सुखमय बनाने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाती हैं और तलाक लेने का फैसला करती हैं.

Comments

Trending