Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

सेक्स क्षमता को बढ़ाने और यौन संबंधी बीमारियों के लिए यह आयुर्वेदिक औषधीयां हैं फायदेमंद

सेक्स क्षमता बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा की जरूरत आज के वक्त में लगभग सभी पुरुषों को होती है, क्योंकि यह तथ्य सभी जानते हैं कि पुरुष आसानी से उत्साहित हो जाते हैं और वो लगभग हर वक्त ही सेक्स के लिए तैयार रहते हैं, लेकिन अधिकांश पुरुष कई प्रकार की यौन परिस्थितियों का सामना करते हैं जो उनकी यौन कामेच्छा को रोक सकती है. इसमें से कुछ समय पूर्व स्खलन, कम सेक्स ड्राइव, वीर्य की कमी, स्तंभन दोष और सीधा दोष, बांझपन आदि समस्या हैं.

इस प्रकार की समस्याओं को दूर करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का उपयोग किया जाता है. तो चलिए आपको बताते हैं कि सेक्स क्षमता को बढ़ाने के लिए आप किन आयुर्वेदिक औषधियों का प्रयोग कर सकते हैं.

वैसे तो सभी जड़ीबूटियां अपने अलग अलग गुणों के लिए जानी जाती हैं और हमारी सेहत के लिए काफी लाभकारी होती हैं लेकिन इनमें से कुछ जड़ीबूटियां एसी हैं जिनका उपयोग सेक्स समस्याओं के लिए किया जाता है लेकिन इन जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किसी अनुभवी व्यक्ति की सलाह पर ही करना चाहिए. सेक्स हमारे जीवन में सबसे आंतरिक पहलु में से एक है, जो स्वास्थ्य समस्याओं के कारण बाधित हो सकता है. सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए बहुत सी औषधियां है जो यौन स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए टॉनिक का काम करती है.

  1. जायफल

jayfal

अपने यौन स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए आप जायफल का उपयोग कर सकते हैं. यह एक बूस्टर के रूप में काम करता है जो केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रेरित करके जघन्य क्षेत्र को गर्म करता है. आयुर्वेद में यौन स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए मुख्य रूप से जायफल, शहद और आधे अंडे का उपयोग करना एक टोनिक के रूप में काम करता है. यहां आपको बता दें कि जायफल का प्रयोग मसाले के रूप में भी किया जाता है. यह भोजन को प्राकृतिक सुगंध देने और स्वादिष्ट बनाने के काम आता है.

  1. लहसून

lehsun

लहसून को कई घरों में मसालों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन आपको बता दें कि अपने औषधीय गुणों के कारण यह आयुर्वेद में कई समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है. केवल स्वास्थ्य समस्याएं ही नहीं बल्कि यौन समस्याओं के लिए यह काफी लाभकारी है. आयुर्वेद में इसे पुरुष और महिलाओं दोनों की कामेच्छा क्षमता को बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाता है. यौन स्वास्थ्य के लिए लहसून नवयौवन प्रदान करने वाली औषधी है जो बीमारी के कारण आने वाली यौन कमजोरी को दूर करने में मदद करता है.

यह उन लोगों के लिए भी लाभकारी है जो यौन दुर्बलता के कारण यौन संबंधन बनाने से बचते हैं. आयुर्वेद के अनुसार लहसून को सबही जड़ी बूटियों की मां माना जाता है, इसलिए इसके औषधीय गुण बाकि जड़ी बूटियों के मुताबिक ज्यादा होते हैं.

  1. सालब मिश्री

orchis

सालब मिश्री (Orchis latifolia linn) एक पौधा है जिसका इस्तेमाल यौन संबंधि समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है. यौन समस्या के इलाज के लिए यह एक बेहतरीन जड़ी बूटी में से एक है. इससे व्यक्ति के शरीर पर भी अच्छा परिणाम होता है. यह न सिर्फ यौन शक्ति को बढ़ाता है बल्कि मानव शरीर के प्रदर्शन को भी बेहतर करता है.

यह लिंग में रक्त प्रवाह को बढ़ाकर उसे बढ़ा और कठौर बनाता है. सालब मिश्री शुक्राणुओं की प्रकृति में सुधार तो करता ही है पर साथ ही शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में भी बहुत उपयोगी है.

  1. शिलाजीत

यौन स्वास्थ्य के लिए शिलाजीत में भी सभी गुण मौजूद हैं. ऐसा कहा जाता है कि यह आयुर्वेदिक औषधि केवल यौन स्वास्थ्य और पुरुष शक्ति को बढ़ाने के लिए ही बनाई गई है. शिलाजीत का प्रयोग आयुर्वेदिक यौन वर्धक दवाइयों को बनाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. शिलाजीत को आयुर्वेद में सबसे अच्छा और महत्वपूर्ण तत्वों में से एक माना जाता है.

यह पुरुषों में शुक्राणुओं की शक्ति और क्षमता को बढ़ाने में काफी मददगार होता है. इसके अलावा शिलाजीत पुरुषों में यौन क्षमता को बढ़ाने के लिए हार्मोन को नियंत्रित करने का भी काम करता है.

  1. शतावरी

महिला में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए शतावरी को काफी फायदेमंद औषधी माना जाता है. यह महिलाओं में कामेच्छा को बढ़ाने में मदद करती है. इससे महिलाओं को नवयैवन प्रदान होता है. शतावरी अंडाशय के साथ साथ अन्य मादा प्रजनन अंगों को पोषण दिलाकर प्रजनन क्षमता को बढ़ाती है. इस औषधी का इस्तेमाल महिलाओं में हार्मोनल संरचना को नियंत्रित करने और शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाने के लिए किया जाता है. साथ ही इससे गर्भपात होने की संभावना भी कम होती है.

  1. अश्वगंधा

प्राचीन समय से ही अश्वगंधा का उपयोग यौन स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित समस्‍याओं के उपचार के लिए किया जा रहा है. इसे भारतीय जीन्‍सेंग के रूप में भी जाना जाता है. यह एक औषधीय पौधा है जिसका उपयोग सदियों से बांझपन, नपुंसकता, समयपूर्व स्‍खलन और अन्‍य यौन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है. यह एक अनुकूलन जड़ी बूटी है जो नसों के काम काज को बढ़ावा देती है और तंत्रिका कार्य को सुधारती है. यदि इसका नियमित सेवन किया जाता है तो यह तनाव प्रबंधन में भी मदद करती है, जो यौन समस्‍याओं के सबसे आम कारणों में से एक है.

Comments

Trending