Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education

ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करना होगा ज़रूरी

आधार कार्ड को मोबाइल नंबर और बैंक आकउंट से लिंक करवाने के बाद अब केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से जोड़ने की योजना बनाई है। पूरे देश में बहुत जल्द ड्राइविंग लाइसेंस आधार से लिंक किए जाएंगे। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को ये जानकारी दी कि सरकार NIC 'Sarthi-4' नाम का सिस्टम तैयार कर रही है। इसमें देश भर के ड्राइविंग लाइसेंस धारकों का रिकॉर्ड रखा जाएगा। सभी लाइसेंस आधार से लिंक होंग। इससे फ़र्ज़ी लाइसेंस की समस्या भी खत्म हो जाएगी।

aadhar card

इस सिस्टम से अगर कोई ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करेगा तो उसकी पूरी जानकारी केंद्रीय रिकॉर्ड में होगी। इसके लिए लाइसेंस को पंच करना ज़रूरी नहीं होगा। सड़क सुरक्षा से जुड़े मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया गया कि देश में सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली मौत में कमी आई है। 2016 के मुकाबले 2017 में मौत का आंकड़ा 3 फीसदी घटा है। अब इस मामले की अगली सुनवाई अप्रैल के पहले हफ्ते में होगी।

रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल 28 नवंबर को बैठक में यह चर्चा हुई थी कि ड्राइविंग लाइसेंस अब एक स्मार्ट कार्ड के रूप में होगा। "संयुक्त सचिव एमओआरएचएच ने बताया कि वर्तमान में एनआईसी केंद्रीय कम्प्यूटरीकृत डाटा बेस के विकास की प्रक्रिया शुरू कर सकती है और सभी राज्यों को इसके तहत कवर किया जाएगा। "यह डाटा बेस अक्टूबर 1, 2018 से प्रभावी होने की संभावना है।

Comments

Trending