Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education & Jobs

यौन उत्पीड़न मामलों में महिला के खिलाफ भी हो कार्रवाई

यौन उत्पीड़न मामलों में महिला के खिलाफ भी हो कार्रवाई

सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जस्टिस देश के इतिहास में पहली बार मीडिया के सामने आए, और कहा कि सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरह से काम नहीं कर रहा है, और यदि इसको ठीक नहीं किया गया, तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा। सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने जो मीडिया में बयान दिया है उससे सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायधीश सहमत नहीं हैं। उनके अनुसार सुप्रीम कोर्ट में सभी केस को समान रूप से महत्‍व दिया जाता है और इसका वितरण भी बिना किसी भेदभाव के किया जाता है। हमारे लिए सभी जज समान है और मैं सभी का स्‍वतंत्र रूप से सम्‍मान करता हूं।

सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका में कहा गया है कि रेप और यौन उत्पीडन में महिला के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। वक़ील ऋषि मल्होत्रा ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि महिलाओं को भी पुरुषों की तरह रेप और यौन उत्पीड़न जैसे मामलों में दंडित किया जाए क्योंकि पुरुष भी रेप के पीड़ित हो सकते हैं। अगर कोई पुरुष किसी महिला के खिलाफ रेप या यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज कराता है तो महिला के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

Comments

Trending