Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others

जानिए दुनिया के ताकतवर नेता के बारे में कुछ रोचक तथ्य

जानिए दुनिया के ताकतवर नेता के बारे में कुछ रोचक तथ्य

आजकल देश में चारो ओर मोदी जी की बाते चलती रहती है | मोदी की छवि एक ताकतवर और कठोर कदम उठाने वाले नेता के रूप में बनी है | परन्तु विश्व पटल पर कई मुख्य नेता है जो अत्यधिक प्रसिद्द है और उन्हें विश्व का सबसे ताकतवर नेता माना जाता है | इस क्रम में सबसे पहला नाम आता है रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का जो अपने बौद्धिक और रणनीतिक कौशल के लिए सबसे ताकतवर नेता के रूप में जाने जाते है |

  • पुतिन का बचपन बहुत ही आभावपूर्ण था | उनकी माता कारखाने में मजदूर थी और पिता नेवी में छोटी पोस्ट पे थे |
  • पुतिन बचपन से ही जुडो और अन्य खेलो में रूचि रखते थे |
  • 1975 में पुतिन ने लेनिनग्राद राजकीय विश्वविद्यालय से कानून व्यवस्था में  स्नातक की उपाधि प्राप्त की|
  • उनकी तीक्ष्ण एवं दूरगामी सोच, सक्रिय और फुर्तीले होने के कारण जब उन्होंने 1975 में KGB , जो की सोवियत रूस की मुख्य खुफिया एजेंसी थी ,  में उन्हें जल्द ही मुख्य प्रोजेक्ट मिलने लगे |

  • उन्होंने १६ वर्षो तक KGB में कार्य करने के बाद जब सोवियत संघ का विघटन हुआ तब राजनीति की ओर कदम रक्खा |
  • उनका KGB का कार्यानुभव और पहुंच के कारण उन्हें राजनीति में प्रभावी पहचान मिली 
  • 1996 में वे मास्को आये और तत्कालीन राष्ट्रपति के प्रशासन में कार्य करने लगे |
  • 1998 तक उन्होंने कई प्रमुख पदों , कार्यालयों और सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुख के रूप में कार्य किया| साथ ही वे राजनीति में अपनी मजबूत पकड़ बनाते रहे |9
  • 1999 में उन्होंने रूस के प्रधानमंत्री का कार्यभार संभाला और चेचन्या नियंत्रण के बाद उन्हें रूस में अत्यधिक लोकप्रियता मिली |
  • वे 1999 -2000 तक कार्यवाहक राष्ट्रपति रहे | उसके बाद बाद में 2000 में ही चुनावो में जीत के बाद राष्ट्रपति बने | रूस में राष्ट्रपति चुनाव ४ साल में होते है |२००४ में उन्हें पुनः भरी मतों  से राष्ट्रपति चुना  गया | २००८ में  नियमो  की वजह से राष्ट्रपति पद पर न लड़ने के कारण वो प्रधानमंत्री बने और दिमित्री मेदवेदेव को राष्ट्रपति बनाया और २०१२ में पुनः राष्ट्रपति बने |
  • उनका राजनितिक जीवन बड़े फैसले लेने ,कुशल रणनिति बनाने और  अपने पक्ष में सत्ता का उपयोग करने के लिए जाना जाता है | चेचन्या विवाद , क्रीमिया विवाद और ईरान और अमेरिका में सत्ता में अपनी पहुंच के कारण उन्हें एक कुशल रणनीतिकार माना जाता है |
  • उन पर निष्पक्ष चुनाव न होने देने ,रुसी मीडिया पर नियंत्रण करने और अपने विरोधियों  का दमन करने के आरोप लगते  रहे है |

Comments

Trending