Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education

'द साइलेंस ब्रेकर्स' हैं इस साल की 'टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर'

'द साइलेंस ब्रेकर्स' हैं इस साल की 'टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर'

अतीत में कभी स्वयं के साथ घटित यौन उत्पीड़न,यौन हिंसा और बलात्कार जैसी घटनाओं का खुलासा करने और उनके विरुद्ध आंदोलन चलाने वाली साहसी महिलाओं को वर्ष 2017 का प्रतिष्ठित 'टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर' के लिए चुना गया है। यह सम्मान विश्व के महिलाओं को प्रेरित और उत्साहित करने वाला एक मजबूत सन्देश है। इसी सूची में संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति दुसरे स्थान पर और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग तीसरे स्थान पर रहे। 

पिछले दिनों ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर #MeToo ( मी टू ) हैशटैग के साथ एक विश्वव्यापी अभियान चलाया गया था जिसमे विश्व भर के मशहूर हस्तियों से लेकर आम लोगों ने हिस्सा लिया था और सभी ने एक स्वर में यौन उत्पीड़न के विरुद्ध आवाज़ उठाते हुए अपने अतीत के यौन हिंसा से सम्बंधित कड़वे अनुभव साझा किये थे। इस अभियान की शुरुआत मशहूर हॉलीवुड निर्माता हार्वे वींसटाइन पर हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्रियों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों से हुई थी और देखते ही देखते इस आंदोलन को विश्व भर की प्रसिद्द हस्तियों का समर्थन मिलने लगा। एलिसा मिलानो और एश्ले जूड सरीखे हस्तियों ने निर्माता हार्वे वींसटाइन पर यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए थे। वींसटाइन पर आरोप हैं कि वह हॉलीवुड में करियर बनाने की इच्छुक मॉडल और अभिनेत्रियों को उनके करियर पर चर्चा के लिए अपने होटल रूम में बुलाता था और बाद में उनसे उनकी सहायता करने के बदले मसाज और यौन सम्बन्ध बनाने की मांग करता था। इतने ताक़तवर निर्माता की इस अनैतिक मांग के सामने अभिनेत्रियां असहज लेकिन मजबूर महसूस करती थीं। आपको जानकर हैरानी होगी कि 80 से ज्यादा चर्चित हस्तियों ने इस अभियान के दौरान वींसटाइन पर यौन प्रताड़ना के साथ ही उनकी इच्छा के विरुद्ध संबंध बनाने अर्थात बलात्कार के गंभीर आरोप लगाए हैं। #MeToo कैंपेन के बाद हार्वे वींसटाइन को ऑस्कर समिति और उसकी अपनी फिल्मनिर्माण कंपनी के साथ-साथ तमाम प्रतिष्ठित संस्थाओं से निकाल दिया गया। उसकी पत्नी ने इन आरोपों के बाद वींसटाइन को छोड़

फोटो : टाइम पत्रिका 
 पत्रिका ने अपने कवर पेज पर अभियान में हिस्सा लेने वाली 5 प्रमुख हस्तियों को स्थान दिया गया है जिसमे अभिनेत्री एश्ले जूड, स्ट्रॉबेरी पिकर इसाबेल  पास्काऊल, मशहूर गायिका टेलर स्विफ्ट , कैलिफ़ोर्निया की लॉबिस्ट एडामा और ऊबर की पूर्व इंजीनियर सुजान फाउलर शामिल हैं। सुजान फाउलर ने ऊबर के सीईओ पर यौन प्रताड़ना का आरोप लगाया था जिसके बाद सीईओ को अपने पद से हाथ धोना पड़ा था। टेलर स्विफ्ट ने अपने एक्स डीजे द्वारा उनका यौन उत्पीड़न किये जाने के खिलाफ आवाज़ उठाई

टाइम पत्रिका द्वारा यह सम्मान हर साल सबसे प्रभावशाली व्यक्ति या समूह को दिया जाता है। इसका नाम 'मैन ऑफ़ थे ईयर' से बदलकर 'पर्सन ऑफ़ थे ईयर' किया गया था। वर्ष 2017 का  यह सम्मान असल में उन सभी महिलाओं को समर्पित है जिन्होंने इस अभियान में हिस्सा लेकर इसे सफल बनाया था और यही वज़ह है कि पत्रिका ने उन्हें 'द साइलेंस ब्रेकर्स' नाम दिया है अर्थात चुप्पी तोड़ने वाले। 

Comments

Trending