Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education

शशि कपूर ने कहा इस दुनिया को अलविदा

शशि कपूर ने कहा इस दुनिया को अलविदा

"हम गायब होने वालो में से नहीं हैं , जहाँ जहाँ से गुजरते हैं जलवे दिखाते हैं.... दोस्त तो क्या, दुश्मन भी याद रखते हैं "

यह थे लीजेंड शशि कपूर के शब्द उनकी फिल्म में से लेकिन आज ऐसा लगता है की यह शब्द अब उनकी पहचान बन गए हैं। 4 दिसंबर 2017 का दिन बॉलीवुड को हमेशा याद रहेगा क्यूंकि इस दिन बॉलीवुड का सबसे सुन्दर, रोमांटिक और चार्मिंग हीरो इस दुनिया को अलविदा कहकर चला गया। 

शशि कपूर काफी समय से बीमार थे और कल मुंबई के कोकिलाबेन हस्पताल में उन्होंने अपनी आखरी साँसे ली। शशि जी 79 उम्र के थे।  पृथ्वीराज कपूर के सबसे छोटे बेटे शशि कपूर ने अपने चार्म से लोगों का दिल बखूबी जीता था और अपने फिल्मी करियर में वह कम से कम 100से भी ज्यादा फिल्में कर चुके थे। हिंदी सिनेमा जगत ने तो उनके हुनर को देखा ही , शशि ने कई अमेरिकन और ब्रिटिश फिल्मो में भी काम किया जिसकी काफी सराहना की गयी थी | 

कपूर खानदान को बॉलीवुड की फर्स्ट फॅमिली भी कहा जाता है , यह खानदान ही फिल्मस्टार्स का है और पीड़ी दर पीड़ी कपूर खानदान के बच्चे इस विरासत को आगे बढ़ाते जा रहे हैं। शशि कपूर ने भी अपने पिता के फिल्मो में होने की वजह से अपने बचपन से ही फिल्मो में काम करना शुरू कर दिया था। सन 1961 में फिल्म धर्मपुत्र से उन्होंने लीड रोल करने शुरू किये और उसके बाद उन्होंने कई ऐसे यादगार फिल्मो में काम किया जिनके लिए उनके रोल को आज भी याद किया जाता हैं। 

शशि कपूर की सुपरहिट फिल्मे "जब जब फूल खिले" "कभी कभी" "दीवार" "नमक हलाल" आज भी याद की जाती है और उसमे उनके अभिनय का कोई जवाब नहीं हैं।बहुत ही कम लोगो को ये बात पता होगी की शशि कपूर जी कश्मीर की वादियों से बेहद प्यार था | जैसे ही उन्हें कभी ये पता चलता था की उनकी इस फिल्म की शूटिंग कश्मीर में होगी वो बेहद खुश हो जाया करते थे | आप सब ये जानकार भी चौक जायेंगे की शशि जी अपन काम को लेकर इतने जादा गंभीर थे की वो एक दिन में 2 से 3 फिल्मों की शूटिंग करते थे | एक सेट से दुरे सेट फिर दुसरे सेट से तीसरे सेट पर इतना काम करने के बावजूद भी उनके चेहरे की मुस्कान में कोई कामी नहीं आती थी |  

शशि कापू  को हिंदी सिनेमा जगत के सबसे ऊँचे पुरुस्कार दादासाहेब फाल्के पुरुस्कार से नवाजा जा चूका हैं। उनके जाने के बाद उनके परिवार को उनके दो बेटे करन और कुणाल और बेटी संजना आगे बढ़एंगे। शशि जी के जाने की खबर सुनकर पूरा बॉलीवुड शोक में डुबा हुआ है और साथ साथ उनके अनगिनत फैंस भी उनके जाने से दुखी हैं। शशि जी ने अपने बेहतरीन अभिनय से हमे इतने सालो तक एंटरटेन किया हैं। हम ईश्वर से प्राथना करते है की वह उनकी आत्मा को शांति दे। 

शशि जी का ये डायलौग तो बच्चे बच्चे को याद है " मेरे पास माँ है " पर आज हम सब के पास शशि कपूर नहीं है | पास में है उनकी बहुत सारी यादे , उनकी बेहतरीन फिल्मे और सभी के दिलो में है उनके गालो पर पड़ने वाले डिंपल की छाप जो ना चाहते हुए भी हर किसी के चेहरे पर मुस्कान बिखेर देती है |

Comments

Trending