Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education

थायराइड के आयुर्वेदिक अचूक उपचार !

थायराइड के आयुर्वेदिक अचूक  उपचार !

थायराइड के बारे में तो आज के समय में सभी जानते ही है | लेकिन इसके प्रभाव के बारे में जानना भी उतना ही जरूरी है | थायराइड गले की एक ग्रंथि है जिस में थायग्रोसिंन नामक एक हार्मोन स्रावित होता है | जब हार्मोन का स्रावण असंतुलित हो जाता है जब इसे एक रोग की दृष्टि से देखा जाता है | थायराइड रोग के कारण ऊर्जा क्षीण हो जाती है | मेटाबॉलिज्म का वैलेंस बिगड़ने लगता है | थायराइड के कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है , दिल , हड्डी , मांसपेशिया और जनन क्षमता भी इस रोग के कारण प्रभावित होती है | थायराइड दो प्रकार का होता है TCH  लेवल बढ़ने पर व्यक्ति का वजन बढ़ने लगता है और इसका स्तर कम होने पर व्यक्ति का वजन घटने लगता है | थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में सहायक होती है | यह ग्रंथि हमारे शरीर के अवयवों को बाहर करने में सहायक होती है | यह ग्रंथि व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक विकास में अहम भूमिका निभाती है |

थायराइड रोग के कारण व्यक्ति की याददाश्त कमजोर हो जाती है | डिप्रेशन  भी हो सकता है | कमजोरी के कारण काम में मन नहीं लगता है |

आइये जानते है इस रोग को दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय -

१- हल्दी - हल्दी के सेवन से थायराइड रोग में फायदा होता है खाने में तो हम सभी हल्दी का सेवन करते है लेकिन यदि दूध में या हल्दी को भूनकर उसका सेवन किया जाए तो यह अधिक लाभकारी हो सकती है |

२- धनिया - हरे धनिया का सेवन थायराइड रोग में अति लाभदायक सिद्ध होता है | हरे धनिये में पाए जाने वाले तत्व थायराइड में फायदा पहुंचाते है | हरे धनिये का सेवन खाने में ,चटनी में ,आदि अनेक तरीको से किया जा सकता है |

३- प्याज - लाल प्याज के रस का सेवन थायराइड रोग में अचूक लाभ पहुंचाता है | सोने से पहले रस का सेवन करे और फिर कुछ ना खाये |

४- बादाम - बादाम एवं अखरोट में उपस्थित तत्व थायराइड रोग के उपचार में फायदा पहुंचाता है ग्रंथि के सूजन में भी बादाम फायदा पहुंचाता है |

५- काली मिर्च - काली मिर्च का सेवन आप चाय में भी कर सकते है यह थायराइड ग्रंथि में फायदा पहुँचता है |

६- तुलसी - तुलसी का सेवन भी थायराइड ग्रंथि में लाभ पहुंचाता है |

Comments

Trending