Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education & Jobs Cricket World Cup 2019 Scinece & Tech

'होममेड' रॉकेट से धरती का सपाट होना साबित करना चाहता है 'मैड' माइक ह्यूज़

'होममेड' रॉकेट से धरती का सपाट होना साबित करना चाहता है 'मैड' माइक ह्यूज़

यह बात आश्चर्यजनक है पर सत्य है। संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया के रहने वाले मैड माइक ह्यूज़ का यह मानना है कि धरती गोल नहीं बल्कि सपाट है । सदियों पूर्व महान अरस्तु और फर्डिनांड मैगेलन द्वारा की गई गणनाओं के अनुसार धरती गोल है और यह ध्रुवों पर सपाट है। इन महान दार्शनिकों और वैज्ञानिकों के इस ब्रह्मांड सत्य तथ्य को गलत साबित करने के लिए माइक ने अपने घर के कबाड़ और अन्य ज़रूरी पुर्जों का प्रबंध करके एक रॉकेट बनाया है और वह इससे उड़ान भर कर 1800 फ़ीट की ऊंचाई तक जाना चाहते हैं जहां से तस्वीरें खींचकर वह यह साबित कर सकें कि धरती गोल नहीं बल्कि सपाट है । 

धरती की कक्षा में प्रवेश करके तीन बार चक्कर लगाने वाले पहले अमरीकी जॉन ग्लेन और चन्द्रमा पर पहला कदम रखने वाले नील आर्मस्ट्रांग जैसे महान अंतरिक्षयात्रियों को 'मैड' माइक ह्यूज़ फिल्मों के नायक मानते हैं जो अंतरिक्ष जाने की मात्र नौटंकी करते हैं और वे लोगों को गुमराह करते हैं। माइक के अनुसार अंतरिक्षयात्रिओं और संस्थाओं ने षड़यंत्र के तहत धरती के आकार को गोल बताया है। हालाँकि विज्ञानं और अभियांत्रिकी के क्षेत्र में उनका ज्ञान कम नहीं है। वर्ष 2014 में वह यह प्रयास कर चुके हैं और एरिज़ोना में 400 मीटर की उड़ान भी भर चुके हैं जो उनके ज्ञान को प्रमाणित करता है। इस उड़ान के दौरान वह घायल भी हो गए थे। माइक ने अपनी अगली उड़ान के लिए बीते शनिवार 25 नवंबर का समय चुना था लेकिन सरकारी झमेलों के कारण उनको यह उड़ान रद्द करनी पड़ी। 'ब्यूरो ऑफ़ लैंड मैनेजमेंट' ने माइक को सरकारी ज़मीन पर उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी जिसकी माइक ने आलोचना भी की है। माइक ने आगे कहा है कि उन्होंने उड़ान के लिए पूर्व निर्धारित उसी स्थान के पास एक निजी संपत्ति तलाश कर ली है जहां से वह अगले सप्ताह उड़ान भर सकते हैं। 

यूट्यूब पर माइक के कई वीडियो उपलब्ध है जिनमे उनकी पहली उड़ान का वीडियो भी शामिल है। माइक ने एक बार कहा कि अमेरिका में लगभग 20 अंतरिक्ष संस्थाएं हैं लेकिन किसी ने भी मानव को अभी तक अंतरिक्ष में नहीं भेजा है लेकिन माइक वह पहले व्यक्ति होंगे जो मानव को रॉकेट से अंतरिक्ष में भेजेंगे। 'फ्लैट अर्थ कम्युनिटी' के वेब शो में उन्होंने उनके अभियान को आर्थिक सहायता देने की गुज़ारिश की और सफल भी हुए।

 

फोटो : गो फंड मी डॉट कॉम

आपको जानकार हैरानी होगी कि 'क्राउड फंडिंग वेबसाइट' गो फंड मी डॉट कॉम पर 'The Flat Earth Associated Press and Mad Mike Hughes and The Entire Flat Earth Community' द्वारा चलाए जा रहे अभियान ने 7890 डॉलर का चंदा इकट्ठा कर लिया है और इसे व्यापक समर्थन मिल रहा है। वेबसाइट पर दिए गए विवरण के अनुसार माइक का मुख्य स्टंट स्वयं को रॉकेट में डालकर लांचर के द्वारा हवा में फेंका जाना है जहां कुछ मील के बाद वह पैराशूट में सवार हो जाता है।

आप पूरा विवरण इस लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं: https://www.gofundme.com/flat-earth-community-rocket-launch 

विश्व भर के 'फ्लैट अर्थ कम्युनिटी' और इस धारणा पर यक़ीन करने वाले समुदाय को 61 वर्षीय माइक से बहुत आशाएं हैं। उनके लिए माइक की अगली उड़ान काफी रोमांचक साबित होने वाली है। 

Comments

Trending