Bollywood Fashion Sports India Beauty Food Health Global Travel Today Tales Facts Others Education & Jobs

जाने नहाने का सही आयुवेर्दिक तरीका !

जाने नहाने का सही आयुवेर्दिक तरीका !

कुछ काम ऐसे होते है जो हम प्रतिदिन करते है और सदियों से करते चले आ रहे है लेकिन उसका सही तरीका पता न होने के कारण हम उसका लाभ नहीं उठा पाते।

हर काम को करने का अपना तरीका होता है जैसे हमे कैसे नहाना चाहिए, इसका पता न होने से कभी - कभी हम बहुत बड़ी मुसीबत में भी पड़ सकते है। हमारे शरीर में गुप्त विद्यमान शक्ति होती है, वह शक्ति लगातार खून के प्रवाह के कारण उत्पन्न होती है । वह शक्ति ऊपर से प्रारम्भ होकर नीचे की तरफ आती है। हमारे सिर में बहुत पतली - पतली रक्त की नलिया होती है जो हमारे दिमाग को रक्त पहुँचाती है ।

यदि हम सीधे सिर पर पानी डालेंगे तो इससे कभी - कभी किसी को लकवा मार सकता है या ब्रेन हैमरेज हो सकता है या हृदय घात इत्यादि हो सकता है क्योकि सिर पर सीधा पानी पड़ते ही रक्त नलिकाएँ सुकड़ने लगती है तथा रक्त के थक्के जमने लगते है । सिर एकदम ठंडा होने से हृदय को सिर की तरफ अतिरिक्त खून भेजना पड़ता है जिससे ब्रेन हेमरेज या हार्ट अटैक हो सकता है क्योकि इससे अचानक हृदय की धड़कन बढ़ जाती है ।

नहाते वक़्त पानी सबसे पहले पैर के पंजो पर डालकर उसे रगड़ना चाहिए, उसके बाद पिंडलियों पर, घुटनो पर, जांघो पर पानी डालना चाहिए और उसके बाद शरीर के बाकि हिस्सों पर पानी डालना चाहिए तथा अंत में सिर पर पानी डालना चाहिए । इस तरीके से नहाने से सर्दी, जुखाम से बचाव होता है और शरीर स्वस्थ रहता है ।    

Comments

Trending